सीतापुर : बकाया मानदेय भुगतान की मांग को लेकर मिड डे मील वर्करों ने आवाज बुलन्द की

सीतापुर। उत्तर प्रदेश मिड डे मील वर्कर यूनियन के जिला अध्यक्ष सुषमा की अगुवाई में बीते छह माह का मानदेय भुगतान भुगतान को लेकर विकास भवन के समीप बने धरना स्थल पर अपनी आवाज बुलंद की मिड डे मील वर्कर्स के द्वारा अपनी 6 सूत्रीय मांग पत्र भी मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश शासन को संबोधित मांग पत्र जिलाधिकारी को सौंपा मिड डे मील वर्कर्स के द्वारा बताया गया कि कठिन परिस्थितियों में अपने कर्तव्य का निर्वाह पूरी निष्ठा के साथ उनके द्वारा किया जा रहा है रसोईया के कार्य के अलावा विद्यालय के सफाई कर्मचारी का भी काम रसोइयों से ही लिया जाता है पूरे देश को धुआं मुक्त करने का दावा करने वाली भाजपा सरकार अपने विद्यालयों में अभी भी जुगाड़ की लकड़ी से खाना बनवा रहे हैं।

बहुत हास्य पद मानदेय का कभी भी समय से भुगतान करने में भाजपा सरकार पीछे रहती है दुनिया के किसी भी कोने में शायद ही किसी को इतना कम पारिश्रमिक मिलता हो जबकि इलाहाबाद उच्च न्यायालय के द्वारा भी सरकार को इस मामले में न्यूनतम वेतन दिए जाने का आदेश जारी किया जा चुका है किंतु सरकार ने उसके अनुपालन की वजह 500 की बढ़ोतरी की घोषणा की जो कि बहुत ही शर्मनाक है और अभी तक उसे पूर्व के मानदेय में जोड़कर कोई भुगतान नहीं किया गया गौरतलब है कि मिलने वाले मानदेय 15 सौ रुपए का भी अभी तक 6 माह से भुगतान नहीं किया गया

इस पर 500 का कथित बढ़ोतरी का भी अभी तक पता नहीं चल पा रहा भुगतान ना होने से रसोइए मिड डे मील वर्कर्स को अपनी बच्चों के पालन पोषण करने में कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है मिड डे मील वर्कर्स ने मुख्यमंत्री से उनकी बकाया मानदेय शीघ्र दिलाए जाने की मांग की इस अवसर पर धरना स्थल पर और भी मिड डे मील वर्कर्स उपस्थित रहे।

Back to top button