सुल्तानपुर : आंधी-तूफान का तांडव, बुजुर्ग सहित बेजुबान की गई जान

जयसिंहपुर-सुल्तानपुर। स्थानीय थाना क्षेत्र के एक गांव में बुधवार देर रात 60कि0मी0 प्रति घण्टे की रफ्तार से आये आंधी और तूफान ने जमकर तांडव मचाया। यहां छप्पर के नीचे दबने से एक बुजुर्ग की मौत हो गई। वही मलबे की चपेट में आने से एक बेजुबान की भी जान चली गई। हादसे में महिला समेत दो लोग घायल हुए हैं। चक्रवात की चपेट में आने से पांच मवेशी भी जख्मी हो गए। जिनका इलाज कराया जा रहा है।

जानकारी के मुताबिक, गोसाईगंज थाना क्षेत्र के तियरी निवासी मोहम्मद अजीम (75) बुधवार की रात छप्पर के नीचे सोए हुए थे। बगल स्थित छ्प्पर में खलीक अहमद (65) और उनकी पत्नी हाजिरा बानो (62) लेटी हुई थी। रात करीब 3 बजे आंधी और तूफान की बीच तीनों के ऊपर छ्प्पर गिर पड़ा। मलबे के नीचे दबे होने के बावजूद भी हाजिरा बानो ने चीख पुकार मचाया तो ग्रामीणों की भीड़ इकट्ठा हो गई।

ग्रामीणों ने कड़ी मशक्कत के बाद छप्पर के नीचे दबे लोगों को बाहर निकाला। लेकिन इस बीच मोहम्मद अजीज की मौत हो चुकी थी। हादसे में खलीक अहमद और उनकी पत्नी घायल हो गईं। जिनका परिजनों ने प्राइवेट चिकित्सक से इलाज कराया। छ्प्पर के नीचे दबने से खलीक का पालतू कुत्ता भी मर गया। घटना की जानकारी पर गुरुवार की सुबह गोसाईगंज पुलिस ने मौके पर पहुंचकर पंचनामा भरवाकर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है।

घटना के बाद से मृतक के परिजनों शमीम, मो. नदीम जानिब का रो रोकर बुरा हाल है। इसी गांव में तेज हवा के झोंके के साथ मोहम्मद जमील की पशुशाला नेस्तनाबूद हो गई। मलबे के नीचे आने से जमील की तीन भैंस और दो गाय घायल हो गई। पशुपालक ने चिकित्सक बुलाकर मवेशियों का इलाज कराया। थानाध्यक्ष गोसाईगंज संदीप कुमार राय ने बताया कि मृतक के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। शासन स्तर से दी जाने वाली सहायता पीडि़त परिजनों को दिलाई जाएगी।

Back to top button