यूपी में फिर चली तवादला एक्सप्रेस, 9 डीएम सहित कई अधिकारी हुये इधर से उधर

भास्कर ब्यूरो

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में एक बार फिर अधिकारियों के तबादले किये गये हैं। कई आईएएस अधिकारियों को इधर से उधर किया गया है। 9 जिलाधिकारी भी बदले गए हैं। गाजियाबाद विकास प्राधिकरण (जीडीए) के उपाध्यक्ष कृष्णा करूणेश का तबादला किया गया है। उन्हें जिलाधिकारी बनाकर गोरखपुर भेजा गया है। इसके साथ ही जीडीए के वीसी के पद पर अभी कोई नई पोस्टिंग नहीं हुयी है। तथा गाजियाबाद के जिलाधिकारी राकेश कुमार सिंह को जीडीए उपाध्यक्ष का अतिरिक्त कार्यभार सौंपा गया है।
इसके साथ ही झांसी नगर निगम के नगरायुक्त अवनीश कुमार राय को जिलाधिकारी इटावा, प्रयागराज के नगरायुक्त रवि रंजन को डीएम फिरोजाबाद, इटावा की डीएम श्रुति सिंह को सचिव चिकित्सा शिक्षा विभाग, कानपुर की डीएम नेहा शर्मा को निदेशक स्थानीय निकाय, बरेली के मंडलायुक्त आर रमेश कुमार को प्रमुख सचिव रेशम विभाग बनाया गया है।
गोरखपुर के डीएम विजय किरन आनंद को प्रभारी महानिदेशक, स्कूल शिक्षा, विशेष सचिव बेसिक शिक्षा विभाग उप्र शासन के अलावा कई और दायित्व सौंपे गए हैं। उप्र बेसिक शिक्षा विभाग की सचिव अनामिका सिंह को महिला कल्याण तथा बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग का सचिव, जिलाधिकारी फिरोजाबाद सूर्यपाल गंगवार को लखनऊ का जिलाधिकारी, लखनऊ के डीएम अभिषेक प्रकाश को अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास विभाग सचिव व मुख्य कार्यपालक अधिकारी इंवेस्ट यूपी, सीएम योगी आदित्यनाथ के विशेष सचिव विशाख को जिलाधिकारी कानपुर, मुख्य विकास अधिकारी जौनपुर अनुपम शुक्ला को विशेष सचिव ऊर्जा तथा अतिरिक्त ऊर्जा स्त्रोत विभाग, महाराजगंज के ज्वाइंट मजिस्ट्रेट सीलम साईं तेजा को सीडीओ जौनपुर, अलीगढ़ की जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे. को मंडलायुक्त बरेली, बस्ती के जिलाधिकारी सौम्या अग्रवाल को डीएम बलिया, बलिया के डीएम इंद्र विक्रम सिंह को डीएम अलीगढ़, जालौन की डीएम प्रियंका निरंजन को बस्ती जिलाधिकारी, प्रतीक्षारत चांदनी सिंह को डीएम जालौन की जिम्मेदारी मिली है।
झांसी नगर निगम के नगरायुक्त अवनीश कुमार राय को जिलाधिकारी इटावा, प्रयागराज के नगरायुक्त रवि रंजन को डीएम फिरोजाबाद, इटावा की डीएम श्रुति सिंह को सचिव चिकित्सा शिक्षा विभाग, कानपुर की डीएम नेहा शर्मा को निदेशक स्थानीय निकाय, बरेली के मंडलायुक्त आर रमेश कुमार को प्रमुख सचिव रेशम विभाग बनाया गया है।
बता दें कि योगी सरकार अपने दूसरे कार्यकाल में प्रशासनिक व्यवस्था को सुदृढ़ करने के लिए लगातार फैसले ले रही है। इसके चलते प्रदेश में अधिकारियों के तबादले का सिलसिला जारी है।

Back to top button