गर्मी ढा रही सितम, फिलहाल राहत के आसार नहीं  

जिला अस्पताल में रोजाना 15 सौ से ज्यादा ओपीडी, वार्ड फुल

डायरिया, उल्टी दस्त के मरीज बढे, एहतियात बरतने की अपील  

भास्कर समाचार सेवा

मथुरा। कान्हा की नगरी तप रही है। लू के थपेड़ों से आम जनजीवन अस्त व्यस्त है। फिलहाल कोई राहत के आसार नहीं दिख रहे हैं। जिला अस्पताल में 15 सौ से ज्यादा की ओपीडी चल रही है। अस्पताल के वार्ड मरीजों से फुल हैं। जिला अस्पताल में पहुंच रहे मरीजों में उल्टी दस्त और फूड प्वाइजनिंग के मामलों की संख्या बहुत ज्यादा है। मरीजों से इमरजेंसी में मेडिसिन और बाल रोग विभाग के वार्ड फुल चल रहे हैं। तापमान लगातार 44 से 45 डिग्री सेल्सियस के आसपास चल रहा है। घरों में लगे एसी और कूलर तक जवाब दे रहे हैं। गर्मी के मौसम में बिजली की खपत भी बढी है। ऐसे में विद्युत उपकरणों पर अतिरिक्त दबाव है, जिससे कई फॉल्ट तो कभी अनियमित कटौती के नाम पर घंटों बिजली गुल रहती है। लोगों का स्वास्थ्य भी प्रभावित हो रहा है। लोग घर से बाहर निकलने में कतरा रहे हैं। दोपहर में भीडभाड वाले बाजारों की सड़कें भी सुनसान नजर आती हैं। अत्यधिक गर्मी के चलते शीतल पेय पदार्थों की खपत बढ़ गई है।  

डा. मुकुंद बंसल, सीएमएस जिला चिकित्सालय मथुरा

मरीजों की संख्या काफी बढी है। लगभग 15 सौ के आसपास ओपीडी चल रही है। इनमें उल्टी, दस्त, बुखार, खांसी, जुकाम के मरीज बहुतायत में हैं। आदमी ठंडा पानी पीता है, फिर गर्मी में निकलता है। गला खराब होता है इससे जुकाम होता है, खांसी होती है, गला खराब होता है। दस्त उल्टी की मरीज भी बढे हैं। बाजार में कटे फटे फल उपलब्ध हैं। हमारी लोगों से अपील है कि वह कटे फटे फलों का सेवन न करें। घर का बना ताजा खाना खाएं। घडे का पानी पीएं और धूप में कम से कम निकलें। शरीर को पूरा ढंके, सूती कपड़े पहनें।  
-डा. मुकुंद बंसल, सीएमएस जिला चिकित्सालय मथुरा

Back to top button