चेन खीचने के अपराध में प्रयागराज मण्डल में 170 और मिर्जापुर में पांच लोंगो को किया गया गिरफ्तार

मिर्जापुर स्टेशन पर बिना उचित कारण चेन खीचने वालों तथा अनधिकृत वेंडरों के विरुद्ध चलाया जा रहा अभियान

अनाधिकृत वेंडरों पर कार्यवाही करते हुये प्रयागराज मण्डल में कुल 447 और मिर्जापुर में 16 अनधिकृत वेंडरो पर हुई कार्यवाही

मिर्जापुर। प्रत्येक यात्री गाड़ी में रेल प्रशासन के द्वारा आपात स्थिति में ट्रेन रोकने के लिए अलार्म चेन की व्यवस्था की गयी है, जिसका बिना उचित और पर्याप्त कारण के प्रयोग करना दंडनीय अपराध है, ऐसा करने वाले व्यक्ति के विरुद्ध रेलवे एक्ट की धारा 141 के तहत दण्ड का प्रावधान है। साथ ही अवैध वेंडरों तथा ओवरचार्जिंग कि रोकधाम के लिए रेल प्रशासन द्वारा स्टेशन पर स्थित खान–पान स्टालों पर उपलब्ध सामानों की रेट लिस्ट लगायी गई है, विभिन्न माध्यमों जैसे प्रिंट मीडिया, इलेक्ट्रानिक मीडिया, सोशल मीडिया, स्टेशनों पर एनाउंसमेंट के माध्यम से रेल यात्रियों को जागरूक भी किया जा रहा है कि यदि कोई वेंडर/खान-पान स्टाल वाला एमआरपी से अधिक पैसों कि मांग करता है, तो रेल यात्री हेल्प लाइन नंबर 139, रेल मदद एप व स्टेशन पर मौजूद अधिकारियों से शिकायत कर सकते हैं।

प्रयागराज मण्डल में चलाये जा रहे विभिन्न अभियानों के क्रम में बिना उचित कारण चेन खीचने वालों पर कार्यवाही करते हुये मई 2022से अब तक प्रयागराज मण्डल में कुल 170 लोंगो को गिरफ्तार कर उन पर रेलवे नियम के अंतर्गत कार्यवाही करते हुए कुल 102855/- रुपये जुर्माना वसूल किया। इसी क्रम में मई 2022 से अब तक मिर्जापुर स्टेशन पर 05 लोंगो को बिना उचित कारण चेन खीचने के अपराध में गिरफ्तार किया गया। रेलवे सुरक्षा बल द्वारा इन पर रेलवे नियम की धारा 141 के तहत कार्यवाही की गई।

अनाधिकृत वेंडरों पर कार्यवाही करते हुये मई 2022 से अब तक प्रयागराज मण्डल में कुल 447 अनधिकृत वेंडरों के विरुद्ध कार्यवाही कर लगभग 366240 रूपये जुर्माना स्वरूप वसूला गया तथा इसी अवधि के दौरान मिर्जापुर स्टेशन पर कुल 16 अनधिकृत वेंडरो को पकड़कर अग्रिम कार्यवाही हेतु रेलवे सुरक्षा बल को सुपुर्द किया गया।

रेल प्रशासन अपने सम्मानित यात्रियों से अनुरोध करता है कि बिना उचित एवं पर्याप्त कारण के चेन पुलिंग न करें ,ऐसा करना दंडनीय अपराध है तथा खान-पान का सामान अधिकृत वेंडर से ही लें और एमआरपी से अधिक मूल्य मांगने पर हेल्प लाइन नंबर 139, रेल मदद एप व स्टेशन पर मौजूद अधिकारियों से शिकायत करें।

Back to top button