अखण्ड प्रताप सिंह को राष्ट्रपति महोदय द्वारा पुलिस वीरता पुरस्कार के लिए किया घोषित

बछरावां थाना क्षेत्र के एक छोटे से गांव राजाखेड़ा, मजरे इचौली निवासी, सी आर पी एफ में असिस्टेंट कमांडेंट पद पर तैनात अखण्ड प्रताप सिंह का नाम उनके अदम्य साहस और ड्यूटी के प्रति कर्तव्यपरायणता के लिए 26 जनवरी 2022 को 73 वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर राष्ट्रपति महोदय द्वारा पुलिस वीरता पुरस्कार के लिए घोषित किया है। वीरता पुरस्कार की घोषणा के पश्चात गाँव और पूरे क्षेत्र मे जश्न का माहौल है। अखण्ड प्रताप सिह, असिसटेट कमाडेंट वर्तमान में 130 बटा सी आर पी एफ अवतीपोरा जि0 पुलवामा जम्मू कश्मीर में तैनात है, और अधिकारी, आतंकवादी विरोधी टीम की अगुआई कर रहे है | अखण्ड प्रताप सिंह पुत्र शीतला बख्श सिंह ने अपनी प्रारम्भिक शिक्षा समता इष्टर कालेज समोधा से पूर्ण किया तथा स्नातक की डिग्री फिरोज गाँधी कालेज रायबरेली ले प्राप्त कर, सी. आर पी एफ में भर्ती हुए तथा वर्तमान में देश के सबसे बड़े अर्द्धसैनिक बल, सी आर पी एफ मे असिस्टेंट कमांडेंट के पद पर रहते हुए जम्मू कश्मीर के अति संवेदनशील जिला पुलवामा में आतंकवादियों के खात्मे में एक अग्रणी भूमिका निभा रहे है।

अधिकारी ने बताया कि दि. 25/4/2020 को पुलवामा जिला के अवंतीपोरा थाना क्षेत्र के गोरीपोरा गाँव में लश्कर-ए-तोइबा के 3 खूंखार आतंकवादियों के छिपे होने की सूचना रात्रि 11 बजे मिलने के पश्चात अखण्ड प्रताप सिंह ने तुरंत अपनी टीम के साथ संदिग्ध इलाके की घेराबंदी कर लिया। आतंकियो द्वारा अपने आप को चारों तरफ से घिरा देखकर उन्होने सुरक्षाबलो को मार डालने की नीयत से अधाधुंध
फायरिंग शुरू कर दी परन्तु राष्ट्र भक्ति का जज्बा लिए हुए अखण्ड प्रताप सिह ने उस कठिन समय में न केवल अपनी टीम का मनोबल बढाया बल्कि आमने सामने की लड़ाई में अप्रतिम शौर्य और साहस का प्रदर्शन करते हुए तीनो खूंखार आतंकवादियो को मार गिराया ,और भारी मात्रा में हथियार और गोलाबारूद बरामद किया। अखण्ड प्रताप सिंह द्वारा ड्यूटी के प्रति निष्ठा, शौर्य और अदम्य साहस दिखाने के लिए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा उन्हें पुलिस वीरता पुरस्कार से सम्मानित किया है। इस सम्मान ने न केवल इनके परिवार बल्कि पूरे क्षेत्र और रायबरेली जिले का गौरव बढ़ाया है।

Back to top button