AIIMS ने जारी किया बुलेटिन, अभी भी अटल बिहार वाजपेयी की हालत गंभीर

राजधानी दिल्ली के (AIIMS में भर्ती पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की तबीयत अभी भी नाजुक बनी हुई है. पिछले 36 घंटे में उनके स्वास्थ्य में कोई सुधार नहीं हुआ है. गुरुवार सुबह वाजपेयी की तबीयत का नया मेडिकल बुलेटिन जारी कर दिया गया है. जारी बुलेटिन में वाजपेयी की तबीयत अभी भी बेहद नाजुक बनी हुई है. वह अभी भी लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अब से कुछ देर में एम्स पहुंचेंगे. बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह, लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी समेत बीजेपी के कई दिग्गज नेता काफी देर से एम्स में ही मौजूद हैं.

लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर हैं वाजपेयी

एम्स के डायरेक्टर रणदीप गुलेरिया के नेतृत्व में डॉक्टरों की एक टीम लगातार वाजपेयी के स्वास्थ्य पर नजर रखे हुए है. एम्स की ओर से बुधवार शाम जारी मेडिकल बुलेटिन में बताया गया था कि उनकी हालत नाजुक है, पिछले 24 घंटे में उनकी तबीयत में कोई सुधार नहीं हुआ है. उन्हें लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखा गया है.

मोदी ने जाना था वाजपेयी का हाल

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी बुधवार शाम AIIMS पहुंचकर वाजपेयी का हाल जाना था. पीएम मोदी करीब 50 मिनट तक एम्स में रहे. प्रधानमंत्री के अलावा कई और केंद्रीय मंत्रियों ने अस्पताल जाकर वाजपेयी के हेल्थ की जानकारी ली. पक्ष-विपक्ष के तमाम नेताओं ने ट्वीट कर वाजपेयी के दीर्घायु होने की कामना की. वाजपेयी के स्वास्थ्य के बारे में लोग दुआएं कर रहे हैं. वाजपेयी के परिवार के नजदीकी लोग भी AIIMS में ही डटे हुए हैं.

बिहारी वाजपेयी 2009 से ही व्हीलचेयर पर हैं

बता दें कि अटल बिहारी वाजपेयी डिमेंशिया नाम की गंभीर बीमारी से जूझ रहे हैं और 2009 से ही व्हीलचेयर पर हैं. कुछ समय पहले भारत सरकार ने उन्हें भारत रत्न से सम्मानित किया गया. अटल बिहारी वायपेयी 1991, 1996, 1998, 1999 और 2004 में लखनऊ से लोकसभा सदस्य चुने गए थे. वो बतौर प्रधानमंत्री अपना कार्यकाल पूर्ण करने वाले पहले और अभी तक एकमात्र गैर-कांग्रेसी नेता हैं. 25 दिसंबर, 1924  में जन्मे वाजपेयी ने भारत छोड़ो आंदोलन के जरिए 1942 में भारतीय राजनीति में कदम रखा था.

Back to top button
E-Paper