हरियाणा : सीबीएसई टॉपर को पहले किया अगवा; फिर दरिंदो ने किया गैंगरेप, देखे VIDEO  

नई दिल्ली: हरियाणा के महेंद्रगढ़ जिले 19 वर्षीय युवती का कथित रूप से अपहरण करके उसके साथ कथित गैंगरेप करने का मामला सामने आया है. इस मामले में 12 लोगों पर गैंगरेप का आरोप है. बताया जा रहा है कि यह पीड़िता कॉलेज में पढ़ती है और वह सीबीएसई टॉपर रह चुकी है.

19 साल की युपती को उसकी प्रतिभा के लिए राष्ट्रपति सम्मानित भी कर चुके हैं. बताया जा रहा है कि छात्रा सुबह घर से कोंचिंग के लिए निकली थी कि कनीना बस अड्डे के समीप उसी के गांव के रहने वाली तीन युवक मिले. जिन्होंने छात्रा को अपनी गाड़ी में लिफ़्ट देकर पानी पीने को कहा, अपने गांव से कोंचिंग सेंटर तक पैदल चलने के बाद उस प्यास भी लग गई थी और वह उनको जानती भी थी क्योंकि वह उसके ही गांव के रहने वाले थे. पानी में नशीला पदार्थ मिलाया हुआ था.

पीड़िता की मां ने बोली ये बात….

पीड़िता की मां का कहना है कि उनके घर पर लोग आए थे और कहा था कि उसे मोदी जी बुला रहे हैं. आज उसे बचाने के लिए कोई नहीं सुन रहा है हमारी. पुलिस कार्रवाई नहीं कर रही है और कोई नहीं सुन रहा है हमारी. उन्‍होंने कहा कि वो मेरी बच्‍ची को डर दिखा रहे है कि उसे जान से मार देंगे. आरोपियों ने धमकी दी है कि अगर किसी को कुछ बताएगी तो जान से मार देंगे.

बताया जा रहा है कि पंकज, मनीष और नीसु नाम के तीन युवक छात्रा को अगवाकर युवक महेन्द्रगढ़ जिले की सीमा से दूर झज्जर जिले की सीमा के खेतों में बने एक कुएं पर ले गए जहां और भी लोग मौजूद थे. और नशे की हालत में सभी ने उसके साथ रेप किया और शाम करीब 4 बजे कनीना बस अड्डे पर बेसुध हालत में फेंककर वहां से रफूचक्कर हो गए. उन्ही युवकों में से एक युवक ने छात्रा के घर पर फोन कर यह जानकारी भी दी कि उनकी लड़की यहां बेसुध पड़ी हुई है. इसके बाद परिजनों ने इसकी जानकारी पुलिस को दी.

रेवाड़ी महिला पुलिस ने जीरो FRI दर्ज़ कर उसे कनीना (महेंद्रगढ़) थाने भेज दिया. कनीना थाने से भी पीड़ित परिजनों को यह कहकर वापस लौटा दिया कि यह मामला उनकी सीमा क्षेत्र से बाहर हुआ है. अब पीड़ित परिवार न्याय की दुहाई लगा रहा है. अब देखना होगा कि बेटी, बचाओ, बेटी पढ़ाओ का नारा देने वाली खट्टर सरकार में कैसे सुरक्षित रहेंगी बेटियां. आपको बता दें कि 26 जनवरी 2016 को राष्ट्रपति इस छात्रा को हरियाणा में टॉप रहने पर सम्मानित भी कर चुके है.

2016 में राष्ट्रपति ने किया था सम्मानित

gangrape

बता दें कि 26 जनवरी 2016 को छात्रा को राष्ट्रपति ने पढ़ाई में अच्छे नंबर लाने के लिए सम्मानित किया था। इस मामले में परिजनों के बयान सामने आने के बाद पुलिस प्रशासन चुप्पी साधे हुए हैं।

दी गई शिकायत के मुताबिक, पंकज, मनीष और नीसु नाम के तीन युवकों ने छात्रा को नशीला पानी पिलाया और बेहोश किया। इसके बाद तीनों युवक छात्रा को अगवाकर महेन्द्रगढ़ जिले की सीमा से दूर झज्जर जिले की सीमा के खेतों में बने एक कुएं पर ले गए, जहां और भी लोग मौजूद थे और नशे की हालत में सभी ने उसे अपनी हवस का शिकार बनाया और वापस शाम करीब 4 बजे वही कनीना बस अड्डे पर बेसुध हालत में फेंककर वहां से रफू चक्कर हो गए।

अब इंसाफ के दर-दर भटक रहे परिजन
छात्रा रेवाड़ी जिले की ही रहने वाली है, इसलिए उसके परिजनों ने इस मामले की जानकारी वही के थाने में दर्ज कराई। रेवाड़ी की महिला पुलिस ने जीरो एफआईआर दर्ज करके उसे कनीना (महेंद्रगढ़) थाने भेज दिया। कनीना थाने से भी पीड़ित परिजनों को यह कहकर वापस लौटा दिया की यह मामला उनकी सीमा क्षेत्र से बाहर का है। पीड़ित परिवार का कहना है कि बेटी के लिए वह जगह-जगह न्याय की भीख मांग रहा है, लेकिन पुलिस और प्रशासन में इसकी सुनवाई करने वाला कोई नहीं है।

Back to top button
E-Paper