अगर आप भी खड़े होकर पीते हैं पानी तो जरूर पढ़ें ये खबर

अगर आप खड़े होकर पानी पीते है तो ये खबर पढ़ कर आप पीना छोड़ देंगे। हम आप को  बता दें कि पूरा दिन में ऐसा अक्सर ही होता है कि हम लोग बैठकर पानी पीएं। आमतौर पर लोग बेहद जल्दी−जल्दी में खड़े−खडे़ पानी पीते हैं। आपको भले ही इसमें कोई खराबी नजर न आए लेकिन वास्तव में अपनी इस आदत के कारण आप खुद ही अपनी सेहत के दुश्मन बन जाते हैं। जी हां, खड़े होकर पानी पीने से आपको कई तरह के नुकसान होते हैं। तो आइये हम आपको बताते है इसके खतरनाक परिणाम-

Image result for आर्थराइटिस का बढ़ता खतरा

आर्थराइटिस का बढ़ता खतरा
आपको शायद जानकर हैरानी हो लेकिन हमेशा ही खड़े होकर पानी पीने वाले लोगों को जीवन में बाद में आर्थराइटिस का खतरा बढ़ जाता है। दरअसल, मनुष्य के शरीर के जोड़ों में तरल पदार्थ का संचय होता है और इन्हीं तरल पदार्थ के कारण आपके ज्वाइंट्स अच्छे से काम करते हैं लेकिन जब आप खडे़ होकर पानी पीते हैं तो इससे आपके शरीर में तरल पदार्थ का संतुलन बाधित होता है। तथा जोड़ों में तरल पदार्थ की कमी के चलते आपको गठिया रोग होने की संभावना बढ़ती है।
Image result for खड़े होकर पानी पीना
नहीं बुझती प्यास
जब आप खड़े होकर पानी पीते हैं तो आपकी प्यास कभी नहीं बुझती। ऐसे में आपको हर थोड़ी देर में प्यास लगती है। वहीं अगर आप सच में अपनी प्यास बुझाना चाहते हैं तो आप बैठकर व छोटी सिप लेकर पानी पीएं।
Related image
किडनी हो सकती है खराब
जब आप खड़े होकर पानी पीते हैं तो इससे पानी बिना छने ही किडनी से बाहर निकल जाता है। ऐसे में आपकी किडनी खराब होने की संभावना काफी हद तक बढ़ जाती है। इतना ही नहीं, खड़े होकर पानी पीते समय जल आपके पेट की दीवार से होता हुआ आपकी आंतों तक पहुंचता है। लेकिन पेट की दीवारों पर पानी का छिड़काव आपके डाइजेस्टिव सिस्टम को खराब करता है। साथ ही इससे स्टमक वॉल और गैस्टोइंटेस्टाइनल टैक्ट को भी प्रभावित करता है।
Related image
अल्सर व हार्ट बर्न की समस्या
खड़े होने पानी पीने का एक सबसे बड़ा नुकसान यह है कि इससे आपको अल्सर व हार्ट बर्न की समस्या का सामना करना पड़ता है। खड़े होकर पानी पीने से एसोफेगस नली के निचले हिस्से पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। जिसके कारण आपके पेट और एसोफेगस के बीच संयुक्त स्फिंकर पर भी प्रभाव पड़ता है। परिणामस्वरूप, पेट में एसिड विपरीत दिशा में बहने लगता है और आपको अल्सर व हार्ट बर्न की शिकायत होती है।
Back to top button
E-Paper