काम की खबर : अभी चेक करे अपना फेसबुक अकाउंट, हैकर्स के हाथ लगा 5 करोड़ यूजर्स का डाटा

फिर हैकर्स के हाथ लगा फेसबुक के 5 करोड़ यूजर्स का डाटा, जानिए कैसे हुआ ये 'कारनामा'

नई दिल्ली : सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक ने शुक्रवार को एक सुरक्षा संबंधी परेशानी का खुलासा किया है। कंपनी का कहना है कि इसके चलते हैकर्स ने करीब 50 मिलियन (5 करोड़) फेसबुक अकाउंट्स की सुरक्षा में सेंध लगा दी है। इसके बाद कंपनी ने इस सोशल नेटवर्किंग प्लेटफॉर्म से एक बड़े फीचर को हटा लिया है।

कंपनी ने ब्लॉग पोस्ट में बताया, ‘हमारी इंजिनियरिंग टीम फेसबुक के ‘View As’ फीचर में एक खामी पाई है। बता दें कि इस फीचर के तहत आप यह देख सकते हैं कि आपकी प्रोफाइल दूसरे की आईडी के जरिए देखने पर कैसी दिखाई देती है।’

कंपनी ने बताया कि अटैकर्स ने इस ‘View As’ फीचर के जरिए फेसबुक ऐक्सेस टोकन चुरा लिए हैं, जिसके जरिए वे कुछ हद तक दूसरों के अकाउंट को हैक कर उसे इस्तेमाल करने में भी कामयाब हो गए हैं। इससे अब तक 5 करोड़ फेसबुक यूजर प्रभावित हो चुके हैं।

सुरक्षा को मद्देनजर रखते हुए फेसबुक ने यह फीचर फिलहाल हटा दिया है। कंपनी ने एक ब्लॉग पोस्ट में बताया, ‘हमने इसकी जांच-पड़ताल शुरू कर दी है। हालांकि अभी यह पता लगाना बाकी है कि खातों का दुरुपयोग कर जानकारी चुराई गई है या नहीं।’

कैसे खतरे में है इन यूजर्स का डाटा
कंपनी के मुताबिक हैकर्स ने फेसबुक के ‘View as’ फीचर कोड में एक सुरक्षा खामी का फायदा उठाया। यह फेसबुक कोड यूजर को उसकी प्रोफाइल दूसरों को कैसी दिखती है, इस बारे में मदद करता है। हैकर्स ने इसी कोड की मदद से इन यूजर्स का फेसबुक एक्सेस टोकन चुरा लिया। फेसबुक का ये टोकन यूजर को एप में लॉगिन बने रहने में मदद करता है ताकि हर बार पासवर्ड न यूज करना पड़ा। फेसबुक ने अंदेशा जताया है कि इसी टोकन की मदद से यूजर्स की प्रोफाइल हैक हो सकती है।

Mark zuckerberg

फेसबुक ने क्या किया ?
फेसबुक के मुताबिक उसने सबसे पहले सुरक्षा खामी का पता लगाकर उसे दुरुस्त किया है। दूसरा, फेसबुक ने करीब 5 करोड़ यूजर्स के एक्सेस टोकन रीसेट कर दिए हैं। इसके बाद फेसबुक ने करीब 4 करोड़ और यूजर्स के एक्सेस टोकन रीसेट करने की बात कही है। इस तरह, कुल 9 करोड़ यूजर्स को फिर से फेसबुक में लॉगिन होगा। इतना ही नहीं, फेसबुक ने फिलहाल, ‘View As’ फीचर को भी अस्थाई तौर पर बंद करने का फैसला लिया है।

फेसबुक को अभी कितना पता है?
फेसबुक ने कहा है कि चूंकि वो अभी जांच ही कर रहे हैं, इसीलिए नहीं जानते कि जिन लोगों का एक्सेस टोकन चुराया गया है, उनके अकाउंट्स का दुरुपयोग हुआ है या नहीं। साथ ही फेसबुक अभी यह भी पता लगाने में नाकाम है कि इन साइबर हमलों के पीछे कौन है और कहां यानि किस देश या जगह से इन्हें अंजाम दिया गया है। फेसबुक ने इस सुरक्षा खामी के लिए माफी मांगी है।

कैसे पता लगेगा कहीं आप भी तो शिकार नहीं ?
फेसबुक संस्थापक मार्क जकरबर्ग ने इस बारे में साफ तौर पर बताया है कि उन्होंने 5 करोड़ यूजर्स का एक्सेस टोकन रीसेट कर दिया है। ऐसे में जो लोग भी इस साबइर हमले का शिकार हुए हैं उन्हें एप पर फेसबुक की ओर से नोटिफिकेशन आएगा और मोबाइल में फिर से लॉगिन करने को कहा जाएगा।

Back to top button
E-Paper