उसने मुझे बोली ऐसी बात, इसलिए उतार की सारी गोलियां।

यूपी की बागपत जिला जेल में कुख्‍यात गैंगस्‍टर मुन्‍ना बजरंगी की हत्‍या के आरोपी गैंगस्‍टर सुनील राठी ने अजीब दलील दी है। उसका कहना है कि ‘मोटा’ कहे जाने को लेकर शुरू हुए विवाद में उसने सभी गोलियां मुन्‍ना बजरंगी पर चला दींं।

बागपत : बागपत की जिला जेल में कुख्‍यात गैंगस्‍टर मुन्‍ना बजरंगी उर्फ प्रेम प्रकाश की गोली मारकर हत्‍या के आरोपी गैंगस्‍टर सुनील राठी ने इसके पीछे अजीब दलील दी है। जहां मुन्‍ना बजरंगी के परिजन और पुलिस इसके लिए किसी सुनियोजित साजिश को वजह बता रहे हैं, वहीं राठी का कहना है कि बजरंगी ने उसे ‘मोटा’ बोला था, जिसने उसे नाराज कर दिया।

हत्‍याकांड के बाद पहले पुलिस को दिए बयान में राठी ने कहा कि बजरंगी और उसके बीच इसी बात को लेकर बहस शुरू हुई थी, जो इतनी बढ़ गई कि उसने बंदूक की सभी गोलियां उस पर चला दी। राठी ने यह भी कहा कि यह बंदूक उसने बजरंगी से ही छीनी थी और उसे गिराकर काबू करने के बाद उस पर सभी गोलियां उतार दीं।

मीडिया  के अनुसार, राठी ने कहा

कि जब वह सुबह टहलने के लिए निकला तो उसका सामना मुन्‍ना बजरंगी से हुआ, जिसने देखते ही कहा कि वह ‘मोटा’ दिख रहा है। पर यह बात उसे पसंद नहीं आई और उसने कहा कि ‘पहले खुद को देखो।’ इसके बाद दोनों के बीच बहस बढ़ गई। राठी का कहना है कि इसी बीच बजरंगी ने अपनी माउजर बंदूक उस पर तान दी। इससे पहले कि बजरंगी कुछ कर पाता, राठी ने बंदूक उससे छीन ली और उसे दबोचकर सारी गोलियां उस पर उतार दी।

हालांकि इस मामूली बात पर हत्‍या की यह बात पुलिस के गले नहीं उतर रही है। इस मामले में गवाहों की बयानी भी कुछ अलग ही है। घटना की जांच से जुड़े एक अधिकारी ने गवाहों के हवाले से बताया कि राठी ने ‘आइसोलेशन सेल’ के बाहर बने गार्डन में टहलते हुए अकारण ही गोलियां चलानी शुरू कर दी थी। पुलिस का यह भी कहना है कि राठी ने बजरंगी के सिर में सभी गोलियां मारीं, जिससे लगता है कि वह किसी भी हालत में उसे जिंदा नहीं रहने देना चाहता था।

इससे पहले बजरंगी की पत्‍नी ने भी करीब एक सप्‍ताह पहले अंदेशा जताया था कि उसके पति की जेल के भीतर ही हत्‍या की साजिश की जा रही है। इस मुद्दे को उठाते हुए सपा नेता आजम खां ने भी यूपी में कानून-व्‍यवस्‍था पर सवाल उठाए हैं।

Back to top button
E-Paper