हनीट्रैप : FB पर हसीनाओं के जरिये जवानों को अपने जाल में फंसा रहा ISI 

लखनऊ । आईएसआई व हिजबुल आतंकी संगठन अब सेना को फंसाने के लिए सोशल मीडिया का सहारा ले रहा है। इसका खुलासा विगत दिनों एटीएस द्वारा पकड़े गए बीएसएफ जवान अच्युतानंद मिश्रा ने किया है। यह भी पता चला है कि आईएसआई ने जवानों को फंसाने के लिए फेसबुक पर हसीनाओं की फौज तैयार कर ली है। वह भी फेसबुक के जरिये एक मिस्त्र की महिला से जुड़ गया था। उसने सेना से सम्बन्धित कई अहम जानकारियां दी थीं।
यूपी एटीएस के आईजी असीम अरुण ने सोमवार को बताया है कि पकड़े गए बीएसएफ जवान अच्युतानंद मिश्रा से गहन पूछताछ और जांच में कई जानकारियां हाथ लगी हैं।

Image result for हन्नी ट्रैप

एक चौकाने वाला मामला सामने आया है 

आईएसआई ने 200 से भी ज्यादा लड़कियों की फर्जी फेसबुक आईडी बनायी है। ये आईडी चलाने वाली लड़कियां खुद को नई दिल्ली, पंजाब, चंडीगढ़ की रहने वाली बताती हैं, जो असल में आतंकी संगठन आईएसआई से जुड़ी रहती हैं। ये पहले अपने आपको डिफेंस की रिपोर्टर, सोशल वर्कर, इंटीरियर डिजाइनर बताती हैं। इसके बाद अपनी मीठी बातों में सेना के जवानों को अपने जाल में फंसा लेती हैं। फिर यह लोग उन जवानों से राज उगलवाती हैं, जैसे कि कैंट की तस्वीरों से लेकर महत्वपूर्ण जगहों पर सेना के मूवमेंट की जानकारी। कुछ जवान इनकी बातों में फंसकर अपनी सारी जानकारियां दे देते हैं, जिसका फायदा आतंकी उठा लेते हैं। लेकिन अब देश के पैरामिलेट्री व जवानों को और भी चौकन्ना रहना होगा। अगर ऐसी कोई भी जानकारी लड़की मांगती है तो फौरन अपने अधिकारी को सूचना दे।
एटीएस ने जारी की ईमेल आईडी

आईजी एटीएस ने बताया कि ऐसे हनीट्रैप में फंसे लोगों को जाल से बचाने के लिए एक हेल्पलाइन नम्बर 9792103082 और ईमेल आईडी आइजीएटीएसयूपी@जीओवी.इन पर अपनी शिकायत कर सकते हैं।

Back to top button
E-Paper