इस कुख्यात बदमाश ने खोला मुन्ना बजरंगी की हत्या का राज, मचा घमासान 

बागपत की जेल में यूपी के माफिया डॉन प्रेम प्रकाश सिंह उर्फ मुन्ना बजरंगी की हत्या कर दी गई। इस हत्याकांड में कुख्यात बदमाश सुनील राठी का नाम सामने आ रहा है। मीडिया रिपोर्ट्स के सूत्रों की मानें तो राठी के इशारे पर ही उसके गुर्गों ने मुन्ना को गोली मारी है। उत्तराखंड और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के अपराध जगत में राठी बहुत बड़ा नाम है।

सुनील राठी को कुछ दिनों पहले ही रुड़की से बागपत जेल में शिफ्ट किया गया था। उसने रुड़की जेल में अपनी जान का खतरा बताया था। सिर्फ वह ही नहीं, उसका पूरा परिवार अपराध जगत में सक्रिय है।

सुनील ने खोला मुन्ना बजरंगी की मौत का राज़ 

‘उसने मुझसे कहा कि मैं बहुत मोटा हूं। मुझे यह पसंद नहीं आया। मैंने बजरंगी से कहा कि पहले खुद को देखो। जिसके बाद हम दोनों के बीच बहस शुरू हो गई और उसने माउजर बंदूक मेरे ऊपर तान दी। मैंने बंदूक खींच ली और उसे लात मारकर गिरा दिया। जैसे ही वह गिरा, मैंने बंदूक की पूरी गोली उस पर खाली कर दी।’

हालांकि, पुलिस अधिकारियों को मुन्ना बजरंगी की हत्या के पीछे यह वजह हजम नहीं हो रही है। बता दें कि मुन्ना बजरंगी पहले से ही बागपत जेल में बंद था।

इससे पहले मुन्ना बजरंगी की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में सामने आया था कि उसके शरीर में कोई भी गोली नहीं मिली। सारी गोलियां उसके शरीर को छेदते हुए बाहर निकल गई हैं, जिस कारण यह अंदाजा भी नहीं लगाया जा सकता कि कितनी गोलियां लगी थी।

वहीं जेल में मुन्ना बजरंगी की हत्या को लेकर अखिलेश यादव ने ट्वीट कर योगी सरकार में कानून-व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए निशाना साधा।

अखिलेश ने ट्वीट कर लिखा

‘आज यूपी में न तो क़ानून बचा है न व्यवस्था, हर तरफ़ दहशत का वातावरण है। अपराधियों के हौसले इतने बुलंद हो गए हैं कि वो जेल तक में हत्याएं कर रहे हैं। ये सरकार की विफलता है। प्रदेश की जनता इस भय के माहौल में बहुत डरी-सहमी है। प्रदेश ने ऐसा कुशासन व अराजकता का दौर पहले कभी नहीं देखा।’

वहीं अखिलेश के ट्वीट पर योगी सरकार के मीडिया प्रभारी मृत्युंजय ने पलटवार करते हुए एसपी काल के दौरान जेल में हुई हत्या की घटनाओं का ब्यौरा ट्वीट कर दिया।

उन्होंने लिखा,’यूपी को जंगलराज में तब्दील करने वाले को अपने शासन में जेलों की हालत को याद करना चाहिए । नीचे सिर्फ़ दो तीन घटनाओं का उल्लेख है, देख लीजिएl और डिटेल चाहिए तो भेज दूँगा। यह बताना चाहिए कि सैमसंग नोएडा से क्यों भाग रहा था ? कौन लोग उसे परेशान कर रहे थे?’

 

Back to top button
E-Paper