देखे खौफनाक मंजर: देशी लहरों में कैसे बह गयी लाखो की विदेशी बस….

शिमला: हिमाचल प्रदेश के कई इलाकों में भारी बारिश और बर्फबारी ने तबाही मचा दी है। भारी बारिश से बाढ़ जैसै हालात हो गए हैं। जनजीवन बुरी तरह प्रभावित हुआ है।  उधर मनाली में भारी बारिश से ब्यास नदी उफान पर है उसके तेज बहाव में बस बह गई। प्रदेश के बिलासपुर जिले के नैना देवी में 178.2 मिमी बारिश हुई। मौसम विभाग ने बताया कि प्रदेश के विभिन्न इलाकों में मध्यम से तेज बारिश हुई है। शनिवार को प्रदेश के सरकाघाट में 137 मिमी, मेहर में 132.6 मिमी और कसौली में 105 मिमी बारिश दर्ज की गई। बारिश और बर्फबारी के चलते तापमान में भारी गिरावट दर्ज की गई।

 कुल्लू के डिप्टी कमिश्नर यूनुस खान ने बताया

‘हम लोग राहत और बचाव कार्य कर रहे हैं। लोगों सुरक्षित स्थान पर ले जाने की कोशिश में जुटे हुए हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि मैं लोगों से अपील करता हूं कि वे नदियों के पास से ऊंचे स्थान पर जाएं।’

हिमाचल प्रदेश के कई इलाकों में बारिश और बर्फबारी होने के कारण अधिकतम तापमान में गिरावट दर्ज की गई जबकि प्रदेश के बिलासपुर जिले के नैना देवी में 178.2 मिमी बारिश हुई। लाहौल-स्पिति में भारी बर्फबारी से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है।

प्रदेश की राजधानी में कल 47.1 मिमी बारिश दर्ज की गई है। लाहौल स्पीति समेत प्रदेश के ऊपरी पहाड़ी क्षेत्रों में बर्फबारी हुई। रोहतांग दर्रे पर लगभग डेढ़ फुट हिमपात हुआ। प्रदेश में कालपा सबसे अधिक ठंड इलाका रहा जहां न्यूनतम तापमान नौ डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। डलहौजी में न्यूनतम तापमान 10.1, कुफरी में 10.6, मनाली में 10.8, राजधानी शिमला में 13 जबकि मंडी में 14.2 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया। मौसम विभाग ने ऊपरी पहाड़ी क्षेत्र में सोमवार तक जबरदस्त बारिश और हिमपात का पूर्वानुमान लगाया है।

Back to top button
E-Paper