अब रामपुर के मुसलमानों ने किया गम गुस्से का इजहार

नूपुर शर्मा और नवीन जिंदल के खिलाफ सख्त कार्रवाई की पीएम और राष्ट्रपति से की मांग

भास्कर समाचार सेवा
रामपुर। भाजपा की पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा और भाजपा नेता नवीन जिंदल के द्वारा पैगम्बर मोहम्मद साहब के बारे में आपत्तिजनक टिप्पणी करने को लेकर दुनिया भर के मुसलमानों में आक्रोश है। इस कड़ी में अब रामपुर का नाम भी जुड़ गया है। रामपुर के मुसलमानों ने दोनों नेताओं के खिलाफ प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति से सख्त कार्रवाई की मांग ज्ञापन भेजकर की है।
मुस्लिम संप्रदाय के लोगों ने प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति को ज्ञापन भेजकर कहा है कि कुछ दिनों से इस्लाम धर्म पर मौखिक हमले हो रहे हैं और पैगम्बर मोहम्मद के बारे में नापाक जुबानों से गुस्ताखी की जा रही है। यह हर साहिबे ईमान के लिए ना काबिले बर्दाश्त है। हर मुसलमान अपने पैगम्बर हजरत मोहम्मद सल्लल्लाहो अलैहि वसल्लम से अपनी जान, अपने मां-बाप और दुनिया की हर चीज से ज्यादा मोहब्बत करता है और उनकी इज्जत व अजमत करता है।
कोई भी मुसलमान किसी भी कीमत पर अपने नबी सल्लल्लाहो अलैहि वसल्लम की शान में छोटी सी भी गुस्ताखी बर्दाश्त नहीं कर सकता। जिलाधिकारी के जरिए भेजे गए ज्ञापन में कहा गया है कि सच तो यह है कि पैगम्बर हजरत मोहम्मद सल्लल्लाहो अलैहि वसल्लम ने ही औरत को उसका हक और मुकाम दिलाया है और मजहब इस्लाम ने ही यह पैगाम दिया है कि किसी और मजहब के गुरुओं और विद्वानों को बुरा ना कहा जाए। यह कुरान ए करीम में लिखा है, जिसकी तालीम आज कितनी बुलंद और रौशन है, आज उसी मज़हब के खिलाफ साजिश और नफरत का माहौल बनाया जा रहा है।
आज हमारे दिल जख्मी हैं।
नबी सल्लल्लाहो अलैहि वसल्लम के नाम में गुस्ताखी सरेआम हो रही है। इसकी वजह से सारी दुनिया में भारत का गौरव कम हो रहा है। हुकूमत खामोश तमाशाई बनी हुई है। जिला रामपुर और पूरे देश के मुसलमान भारत सरकार से मांग करते हैं कि गुस्ताख ए मोहम्मद सल्लल्लाहो अलैहि वसल्लम के खिलाफ खास तौर से नूपुर शर्मा और नवीन जिंदल के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए, ताकि आइंदा इस तरह किसी भी मजहब के पेशवा के खिलाफ कोई भी अपनी गंदी जुबान का इस्तेमाल ना कर सके।

Back to top button