गोरखपुर में गोलघर समेत पांच स्थानों का पार्किंग ठेका निरस्त

गोपाल त्रिपाठी
गोरखपुर। गोलघर समेत पांच प्रमुख सडकों पर बिना तैयारी के शुरू की गई पार्किंग व्यवस्था को लेकर उठे सवालों को देखते हुए नगर आयुक्त ने सभी पांच ठेके को निरस्त कर दिया है। अब ठेकेदारों द्वारा किसी प्रकार की वसूली गैर कानूनी होगी। पार्किंग को लेकर महापौर ने भी अपनी आपत्ति जताई थी। इनमें गोलघर, सिनेमा रोड, पार्क रोड, कार्मल रोड और काली मंदिर के पास के पार्किंग ठेका हैं।
नगर आयुक्त ने इस बाबत आदेश जारी करते हुए किसी प्रकार के वसूली को गैर कानूनी करार दिया है। नगर निगम द्वारा पार्किंग ठेका को लेकर लगातार आपत्ति जताई जा रही थी। पार्किंग पर्ची से लेकर पार्किंग स्थान को लेकर व्यापारियों ने विरोध जताया था। इतना ही नहीं नगर निगम के जिम्मेदार पार्किंग स्पेस को लेकर पट्टी भी नहीं खींच सके। जिससे ठेकेदारों को लगातार दिक्कतों का सामना करना पड रहा था। पार्किंग को लेकर ट्रैफिक पुलिस और ठेकेदारों के बीच भी सामंजस्य नहीं बैठ पा रहा था। सडक पर गाडी खडी करने को लेकर ट्रैफिक पुलिस पार्किंग की पर्ची लगी गाडियों का भी चालान कर रही थी। पुलिस लाइन के पास पार्किंग को लेकर भी एसपी ट्रैफिक ने आपत्ति जताई थी। महापौर सीताराम जायसवाल ने पार्किंग व्यवस्था को लेकर सवाल उठाया था। महापौर ने इस बात पर भी नाराजगी जताई थी कि नगर निगम ने बिना उनके संज्ञान में लाये पार्किंग की व्यवस्था को शुरू कर दिया था। जिसके बाद महापौर ने फाइल पर हस्ताक्षर करने से इनकार कर दिया था। नगर आयुक्त प्रेमप्रकाश सिंह ने बताया कि ठेकेदार की मनमानी को लेकर शिकायतें मिल रही थीं। व्यापारियों में भी व्यवस्था को लेकर आक्रोश था। फिलहाल ठेका निरस्त कर वसूली पर रोक लगा दी गई
पार्किंग को लेकर नगर आयुक्त से मिले व्यापारी 
पांच स्थानों पर पार्किंग को लेकर गोरखपुर उद्योग एवं वाणिज्य संगठन के पदाधिकारी बुधवार को नगर आयुक्त से मिलने पहुंचे थे। व्यापारियों ने पार्किंग ठेका को निरस्त करने की मांग की। जहां नगर आयुक्त ने पार्किंग ठेका निरस्त करने की बात बताई। मिलने वालों में अध्यक्ष मुहम्मद नसीम, अरविन्द कुमार जायसवाल, चैधरी रमेश चन्द्र, राकेश निभानी, हामिद अंसारी, आदिल अहमद, संदीप मल्ल आदि उपस्थित रहे।
यहां के लिए नहीं मिल रहे थे ठेकेदार
 नगर निगम प्रशासन को बैंक रोड, मेडिकल कालेज के सामने व पुलिस चैकी के उत्तर तरफ, विश्वविद्यालय के सामने पंत पार्क के पास, रुस्तमपुर में नगर निगम की खाली जमीन में, बंधू सिंह पार्क, घंटाघर, कौवादाह शौचालय के पास निगम की जमीन में, घोष कंपनी चैराहे के पास और बरगदवा में मोहरीपुर चैक के पास निगम की खाली जमीन पर पार्किंग के लिए ठेकेदार नहीं मिल रहे हैं।
Back to top button
E-Paper