राफेल पर महासंग्राम : राहुल का PM मोदी पर निशाना, कहा- रक्षा मंत्रालय का पत्र खोलता है राफेल की पोल :

Image result for राहुल गांधी rafail

नई दिल्ली । कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने शुक्रवार को एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर राफेल सौदे में अनिल अंबानी को लाभ पहुंचाने जाने का आरोप लगाया। उनका दावा एक मीडिया रिपोर्ट के आधार पर है जिसमें रक्षा मंत्रालय ने राफेल पर प्रधानमंत्री कार्यालय द्वारा अलग से सौदेबाजी करने पर आपत्ति जताई थी।

क अंग्रेजी दैनिक समाचार ने शुक्रवार को अपनी एक रिपोर्ट में कहा है कि तत्कालीन रक्षा मंत्री और वर्तमान में गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर को रक्षा मंत्रालय की ओर से खत लिखा गया था। इसमें कहा गया था कि प्रधानमंत्री कार्यालय राफेल विमान को लेकर समानांतर सौदेबाजी कर रहा है। इससे रक्षा मंत्रालय की राफेल सौदे को लेकर स्थिति कमजोर हुई है।

इसी मुद्दे पर प्रेस वार्ता करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तीखा हमला किया। राहुल ने राफेल मुद्दे पर आई इस रिपोर्ट को आधार बनाते हुए एक बार फिर कहा कि प्रधानमंत्री ने देश का 30 हजार करोड़ रुपया अनिल अंबानी को दे दिया है|

राहुल गांधी ने अपने पिछले आरोपों को एक बार फिर दोहराया और कहा कि उन्हें फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति ने बताया था कि प्रधानमंत्री के कहने पर राफेल सौदे में अनिल अंबानी को ठेका दिलाया गया।

राहुल गांधी ने कहा कि यह है पैसा देश के एयरफोर्स के जवानों का था जिसे प्रधानमंत्री ने अनिल अंबानी को दे दिया। उन्होंने कहा कि रक्षा मंत्रालय ने सीधे तौर पर प्रधानमंत्री के अलग से सौदेबाजी करने पर आपत्ति जताई थी। उन्होंने कहा कि सरकार में रहते हुए प्रधानमंत्री किसी की भी जांच करवा सकते हैं लेकिन फिलहाल उन्हें राफेल मुद्दे पर जांच कराना चाहिए।

राहुल ने कहा कि कांग्रेस पार्टी पिछले 1 साल से राफेल का मुद्दा उठा रही है और अब रक्षा मंत्रालय का नोट इस बात को साबित करता है कि अनिल अंबानी को लाभ पहुंचाने के लिए प्रधानमंत्री ने नया राफेल सौदा किया।
राहुल ने कहा कि रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने इस बारे में देश को गुमराह करने की कोशिश करते हुए संसद में झूठ बोला।

इस दौरान राहुल गांधी ने मनोहर पर्रिकर से हाल में हुई अपनी मुलाकात पर भी स्पष्टीकरण दिया| राहुल ने कहा कि मुलाकात केवल हाल-चाल जानने को लेकर थी और राफेल को लेकर इस पर कोई चर्चा नहीं हुई।

Back to top button
E-Paper