न मेहंदी, न शहनाई GF ने किया ऐसा खौफनाक काम, आखिरकार सबने कहा- कबूल है…

रामपुर: शादी का जोड़ा, न हाथों में मेहंदी और न ही शहनाई. रामपुर में प्रेमिका ने ऐसी जिद की कि धरना स्थल ही शादी स्थल बनाना पड़ गया. प्रेम में कोई किसी भी हद तक जा सकता है. और इस बार ऐसा किया प्रेमिका ने. यूपी के रामपुर जिले के अजीमनगर थाना इलाके में एक प्रेमिका प्रेमी से शादी की जिद पर ऐसी अड़ी कि प्रेमी, परिवार, पंचायत सबने उसके सामने घुटने टेक दिए. प्रेमी के घर के पास भूख हड़ताल पर बैठी प्रेमिका ने शादी तीन दिन तक भूख हड़ताल करते हुए कुछ भी नहीं खाया, उसने पानी भी छोड़ दिया. एक दर्जन बार पंचायत बैठी. समझाया जाता रहा, लेकिन प्रेमिका नहीं मानी. आखिरकार परिवार पंचायत सभी ने उसके आगे घुटने टेक दिए. सभी ने उसकी जिद को कबूल किया और इसके बाद इमाम को बुलाकर दोनों का निकाह पढ़ा दिया गया. दोनों का घर आसपास ही है.

काफी समय से चल रहा था प्रेम-प्रसंग
मामला रामपुर जिले के दौंकपुरी टांडा गांव का है. यहां एक युवती का एक युवक से प्रेम-प्रसंग चल रहा था. प्रेमिका तुरंत शादी के लिए कह रही थी, लेकिन प्रेमी तैयार नहीं था. इसके बाद बुधवार को प्रेमिका अचानक प्रेमी के घर के सामने पहुंची और उसने भूख हड़ताल का ऐलान कर दिया. लोगों को लगा कि अभी वापस चली जाएगी, लेकिन वह नहीं मानी. गांव के लोग एकत्रित हो गए. युवती को उसके व युवक के परिजनों ने समझाने की कोशिश की, लेकिन मिन्नतों के बीच जिद करते हुए पानी भी छोड़ का ऐलान कर दिया. वह तीन तक भूख हड़ताल पर बैठी रही. इस बीच करीब एक दर्जन बार गांव में पंचायत बैठी रही, लेकिन युवती अड़ी रही.

आखिरकार जिद के आगे झुके लोग, करानी पड़ी शादी
युवती की जिद के लोगों को झुकना पड़ा. जुमे (शुक्रवार) की नमाज के बाद इमाम को बुलाया गया. धरना स्थल पर ही उसका युवक से निकाह पढ़ा दिया गया. इसके बाद युवती प्रेमी बने शौहर के साथ घर चली गई. युवती का घर युवक के घर से कुछ घर छोड़ कर है. प्रेमिका की इस जिद और इस तरह से शादी की चर्चा हो रही है. लोग प्रेमिका की हिम्मत को लेकर दंग हैं कि एक ही गांव में होते हुए उसने इतना बड़ा कदम उठा लिया. निकाह गांव के पूर्व प्रधान मुरारी लाल की मध्यस्थता में कराया गया.

Back to top button
E-Paper