फूलों से सजे इस वाहन में निकलेगी  भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी की अंतिम यात्रा

फूलों से सजे सेना के इस वाहन में निकलेगी अटल बिहारी वाजपेयी की अंतिम यात्रा

नई दिल्ली: पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का अंतिम संस्‍कार शुक्रवार (17 अगस्त) को नई दिल्‍ली के स्‍मृति स्‍थल में किया जाएगा. अभी उनका पार्थिव शरीर उनके सरकारी आवास छह, कृष्‍ण्‍ा मेनन मार्ग पर रखा गया है. जहां सुबह 7.30 बजे से 8.30 आम जनता उनके अंतिम दर्शन कर सकेंगे. यहां से सुबह 9 बजे उनका पार्थिव शरीर अंतिम दर्शन के लिए दीन दयाल उपाध्याय मार्ग पर स्थित बीजेपी मुख्यालय लाया जाएगा. इसके बाद दोपहर एक बजे यहां से राष्ट्रीय स्मृति स्थल तक वाजपेयी की अंतिम यात्रा निकाली जाएगी.

भारत के दमदार नेताओं में से एक रहे अटल बिहारी वाजपेयी का अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ किया जाएगा. इसके लिए सेना ने अपने दो ट्रकों को फूलों से सजाकर तैयार कर लिया है. अटल बिहारी वाजपेयी के सरकारी आवास छह, कृष्‍ण्‍ा मेनन मार्ग के बाहर इन ट्रकों को खड़ा कर दिया है. अटल जी की अंतिम यात्रा की अगवानी यही ट्रक करेंगे. इन्हीं में उनका पार्थिव शरीर रखकर दीन दयाल उपाध्याय मार्ग पर स्थित बीजेपी मुख्यालय लाया जाएगा और फिर शाम को चार बजे उनके अंतिम संस्कार स्मृति स्थल पर किया जाएगा.

अटल बिहारी वाजपेयी की अंतिम यात्रा में देश-दुनिया के कई नेता शामिल होंगे. वीवीआईपी मूवमेंट को देखते हुए दिल्ली पुलिस की ओर से ट्रैफिक एडवाइजरी जारी की गई है जिसमें कई प्रमुख मार्गों को बंद कर ट्रैफिक डाइवर्ट किया गया है. इसके अलावा दिल्ली सरकार ने शुक्रवार (17 अगस्त) सभी सरकारी दफ्तरों, स्कूलों और बाजार को भी वाजपेयी के सम्मान में बंद रखने का ऐलान किया है.

आपको बता दें पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का लम्बी बीमारी के बाद गुरुवार (16 अगस्त) शाम अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में निधन हो गया. वह 93 वर्ष के थे. पूर्व प्रधानमंत्री के निधन की जानकारी देते हुए एम्स के मीडिया एवं प्रोटोकाल डिविजन की अध्यक्ष प्रो. आरती विज ने दी. उन्होंने एक विज्ञप्ति में कहा कि गहरे शोक के साथ हम पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन की सूचना दे रहे हैं . एम्स के अनुसार पूर्व प्रधानमंत्री का निधन आज शाम पांच बजकर पांच मिनट पर हुआ .

Back to top button
E-Paper