रेवाड़ी गैंगरेप पर भाजपा विधायक के बिगड़े बोल, कहा-

नयी दिल्ली : हरियाणा के महेंद्रगढ़ जिले में अगवा कर 19 साल की लड़की के साथ गैंगरेप के 3 आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी अभी भी जारी है. घटना के दो दिन बीत जाने के बाद भी आरोपी फरार हैं. हरियाणा पुलिस ने एसआईटी यानी विशेष जांच दल का गठन कर दिया है. इसका नेतृत्व नूह की पुलिस अधीक्षक (एसपी) नाजनीन बसीन कर रही हैं. वहीं, हरियाणा से बीजेपी के विधायक मामले पर बेतूका बयान दे रहे हैं. हरियाणा के उचना कलां से विधायक प्रेमलता ने रेवाड़ी गैंगरेप मामले में अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि बेरोजगारी की वजह रेप की वारदात बढ़ रही है.

एक कार्यक्रम में पहुंचीं बीजेपी विधायक प्रेमलता ने कहा ‘जिन युवाओं के पास रोजगार नहीं है, वह कुंठित हो रहे हैं और इस तरह के अपराध कर रहे हैं.’ विधायक के इस बयान के बाद विपक्ष के साथ लोगों ने भी विरोध करना शुरू कर दिया है.

सुराग देने वाले को एक लाख का इनाम, जानिए पूरा मामला : एसपी नाजनीन

हरियाणा के रेवाड़ी में बोर्ड टॉपर छात्रा के साथ गैंगरेप के आरोपियों का सुराग देने वाले पर एसआईटी ने इनाम की घोषणा की है। एसआईटी का नेतृत्व कर रही नूंह की एसपी नाजनीन भसीन ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर जानकारी दी कि आरोपियों का सुराग देने वाले को एक लाख रुपये का इनाम दिया जाएगा।

एसआईटी ने पीड़िता के साथ रेप की पुष्टि की है। हालांकि घटना के 3 दिन बीत जाने के बाद भी आरोपियों की गिरफ्तारी न होने से प्रशासन सवालों के घेरे में है।

एसपी नाजनीन भसीन ने मीडिया को बताया कि आरोपी घटना वाली रात (12 सितंबर) को ही फरार हैं। उनकी तलाश की जा रही है। नाजनीन ने कहा, ‘हमारी पहली प्राथमिकता दोषियों को पकड़ने की है। जब तक वे गिरफ्तार नहीं हो जाते हम मामले की ज्यादा जानकारी नहीं दे सकते।’ साथ ही नाजनीन ने यह भी कहा कि एसआईटी इस मामले में कोई कोताही नहीं बरतेगी और तेजी से मामले पर काम कर रही है। एसआईटी मामले की जांच के लिए घटना वाली जगह का मुआयना कर रही है।

उन्होंने यह भी कहा कि इस मामले में अगर किसी को कोई भी जानकारी मिलती है आरोपियों के खिलाफ या फिर पुलिस कार्रवाई की लापरवाही पर तो उन्हें तुरंत सूचित करें। इससे पहले नाजनीन भसीन ने पीड़िता और उसके परिवार से मुलाकात की। बता दें कि पीड़िता के पिता ने कहा था कि इस मामले में 3 से ज्यादा आरोपी शामिल हो सकते हैं।

इस पर एसपी का कहना है कि उन्हें अभी तक 3 आरोपियों के खिलाफ ही शिकायत मिली है जिनकी पहचान हो चुकी है। इनके नाम पंकज, मनीष और नीशू हैं। इनके अलावा किसी अन्य के बारे में कोई सूचना नहीं है। इस बारे में तीनों आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद उन्हीं से पूछताछ की जाएगी।

मामले का कोई अहम गवाह नहीं

हालांकि इस मामले में पुलिस को अभी तक कोई गवाह नहीं मिला है। बता दें कि 19 साल की युवती के साथ गैंगरेप बुधवार को हुआ जब कोचिंग सेंटर से घर लौट रही थी। उसी समय बस अड्डे से पंकज और मनीष नाम के दो युवकों ने युवती को लिफ्ट देने के बहाने अगवा कर लिया।

Back to top button
E-Paper