बहराइच:  तड़प-तड़प  चार किशोरियां की दर्दनाक मौत, मचा हाहाकार 

बहराइच .  उत्तर प्रदेश के बहराइच में जरवल क्षेत्र में चार किशोरियां तालाब में डूब गई जिसमें दो को बचा लिया गया है।

पुलिस ने गुरुवार को बताया कि भिज्जूपुरवा गांव की चार सहेलियां नाव से मवेशियों के लिए घास लाने जुराखन घाट तालाब के उस पार गई थी। वापस लौटकर वे तालाब के तट पर नहाने लगीं। पैर फिसलने से सभी गहरे पानी में चली गईं और डूबने लगीं। बचाव के लिए किशोरियों ने शोर मचाया। एक युवक ने किसी तरह दो सहेलियों की जिंदगी बचायी लेकिन अन्य दो किशोरियां डूब गईं।

लापता किशोरियों की खोजबीन के लिए फतेहपुर के 12वीं वाहिनी फ्लड पीएसी के जवानों को बुलाया गया है। जवानों ने जाल की मदद से बुधवार देर शाम को एक किशोरी का शव बरामद करने में सफलता पायी है जबकि दूसरे का पता अभी नहीं चल सका है।

सूत्रों के अनुसार थाना जरवल रोड क्षेत्र के ग्राम अहाता भिज्जूपुरवा निवासी रिंकी (15) अपनी छोटी बहन प्रियंका (11) और सहेली राजवंती (24) तथा मीरा (16) के साथ गांव से कुछ दूरी पर स्थित जुराखन घाट तालाब के पार सभी नाव पर सवार होकर मवेशियों के लिए घास लाने गई थी। वापस हुईं तो नाव से घास उतारकर तालाब में नहाने लगीं। स्नान के दौरान पैर फिसलने से चारों सहेलिया गहरे पानी में पहुंचकर डूबने लगी। सभी ने बचाव के लिए शोर मचाया। इस पर तालाब के तट पर मौजूद दमरीपुरवा निवासी राजकुमार दौड़ा। चार किशोरियों को डूबता देख उसने तट के किनारे खड़ी नाव की सहायता से मौके पर पहुंचकर किसी तरह मीरा और प्रियंका को बचा लिया।

तालाब में डूबी रिंकी एवं राजवंती का पता न लगने पर युवक ने गांव पहुंचकर ग्रामीणों को घटना की सूचना दी। घाघरा नदी से जुड़ा होने के चलते तालाब में बहाव तेज था। ऐसे में स्थानीय गोताखोरों की हिम्मत तालाब में उतरने की नहीं हुई।

उपजिलाधिकारी कैसरगंज पंकज कुमार ने 12वीं वाहिनी फ्लड पीएसी फतेहपुर के जवानों को मौके पर रेस्क्यू के लिए भेजा। जवानों ने जाल की मदद से डूबी किशोरियों की तलाश शुरू की, लेकिन देर शाम तक तलाश के बावजूद सिर्फ रिंकी का शव तालाब से बरामद हो सका है। अब तक राजवंती का पता नहीं लग सका है।

 

Back to top button
E-Paper