कोरोना संक्रमण का केंद्र बना उत्तर दिनाजपुर, हावड़ा में आंकड़ा 1000 के पार

कोलकाता । घातक जानलेवा महामारी कोरोना वायरस का संक्रमण पश्चिम बंगाल में तेजी से फैलता जा रहा है। कई जिले ऐसे हैं जो पहले तो ग्रीन जोन में थे लेकिन अब यहां इतनी तेजी से महामारी का संक्रमण फैला है कि यह रेड जोन में शामिल हो चुके हैं। इसमें उत्तर दिनाजपुर जिला प्रमुख है।

राज्य स्वास्थ्य विभाग की ओर से दी गई जानकारी में बताया गया है कि राज्य सरकार के पास मौजूद आंकड़ों के मुताबिक मंगलवार सुबह तक यहां इस महामारी की चपेट में आए लोगों की संख्या 159 है। पांच लोग पिछले 24 घंटे में इसकी चपेट में आए हैं, जबकि 29 लोग स्वस्थ होकर घर लौट चुके हैं। हालांकि अभी तक इस से किसी की मौत नहीं हुई है। 130 एक्टिव मामले हैं जो विभिन्न अस्पतालों में चिकित्साधिन है। इसके अलावा हावड़ा जिला ऐसा है जो पहले से ही रेड जोन में था। अब संक्रमण के मामले में राजधानी कोलकाता को भी पीछे छोड़ रहा है। संक्रमण दर यहां राजधानी कोलकाता से ज्यादा है। हालांकि संख्या कम है।


अभी तक हावड़ा में 1107 लोग इस महामारी की चपेट में आ चुके हैं। खास बात यह है कि पिछले 24 घंटे में 78 लोग कोरोनावायरस पॉजिटिव हुए हैं, जबकि 438 लोग स्वस्थ होकर घर लौट चुके हैं। 33 लोगों की मौत कोरोनावायरस की वजह से हुई है। पांच लोगों की मौत कोमॉरबिड से हुई है। यानी इन लोगों में भी मरने से पहले करोना का संक्रमण था लेकिन सरकार का दावा है कि इनके शरीर में कई अन्य गंभीर बीमारियां थीं, जिसकी वजह से इनकी जान गई है। इनकी मौत की वजह कोरोना नहीं है। 631 एक्टिव मामले हैं जो विभिन्न अस्पतालों में चिकित्साधिन हैं।

उल्लेखनीय है कि राजधानी कोलकाता में 2179 लोग इस महामारी की चपेट में हैं। 24 घंटे में केवल 54 लोग कोरोना पॉजिटिव हुए हैं, जो हावड़ा की तुलना में कम है। इन जिलों के अलावा हुगली में 306, उत्तर 24, परगना में 753, पूर्व मेदिनीपुर में 108, बीरभूम में 160 और मालदा में 142 लोग इस महामारी की चपेट में आ चुके हैं। मुर्शिदाबाद में भी 98 लोग कोरोना पॉजिटिव हैं, जबकि कूचबिहार में 87 और पूर्व बर्दवान में 95 लोग इस महामारी की गिरफ्त में आ चुके हैं।

Back to top button
E-Paper