अपमान से निराश होकर बनाया मोर्चा, अब पीछे हटने का सवाल नहीं : शिवपाल

लखनऊ, समाजवादी नेता शिवपाल सिंह यादव ने अपने कदम वापस लेने की सभी संभावनाओं को नकारते हुये साफ कहा कि अब वह शीघ्र ही राष्ट्रीय व प्रदेश कार्यकारिणी का गठन करेंगे। यह घोषणा आज शिवपाल सिंह ने श्रीकृष्ण वाहिनी के पदाधिकारियों के राज्य प्रतिनिधि सम्मेलन मे की। वह सम्मेलन मे सामाजिक संगठनों का समर्थन मिलने से काफी उत्साहित दिखे।

श्रीकृष्ण वाहिनी के राज्य प्रतिनिधि सम्मेलन को संबोधित करते हुये शिवपाल सिंह यादव ने अपने संघर्षों के दिन को याद किया। उन्होने कहा कि उन्हे कभी पद की लालसा नही रही। यही कारण रहा कि लंबे संघर्ष के बाद 1994 मे उन्हे तब विधायक बनने का मौका मिला, जब नेताजी मुलायम सिंह केंद्र की राजनीति करने लगे। उन्होने बताया कि लेकिन आजकल लोग तुरंत बड़ा पद चाहतें हैं। उन्होने कहा कि समाजवादी सेक्युलर मोर्चे के गठन मे इन बातों का ध्यान रखा जायेगा।

इससे पूर्व सम्मेलन को पूर्व मंत्री कमाल यूसुफ और पूर्व सांसद रामसिंह ने भी संबोधित किया। उन्होने शिवपाल सिंह को समाजवादी संघर्ष का नेता बताया। इतना ही नहीं उन्होने कहा कि जिस तरह से भगवान राम ने 14 साल का वनवास काटा है ठीक उसी तरह से शिवपाल ने डेढ़ वर्ष का वनवास काटा है। अगले चुनाव मे बता दिया जायेंगा कि यूपी का नौजवान अखिलेश के साथ नहीं बल्कि शिवपाल यादव के साथ है। इसके साथ ही कार्यकताओं ने शिवपाल यादव को यूपी का अगला सीएम बनाने के लिए प्रण किया है।

राज्य सम्मेलन में शिवपाल सिंह यादव के समाजवादी आंदोलन मे उनके जीवन संघर्षों को लेकर उनके ऊपर लिखे गीत गाये गये। सपा सांस्कृतिक दल के पूर्व अध्यक्ष व लोकगायक डीएन यादव ने उन्हे अपने गीत मे 2022 में उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री तक बता दिया। आज पूरे कार्यक्रम मे खासकर शिवपाल यादव के भाषण के दौरान कार्यकर्ताओं ने अपने नेता को लेकर नारे लगाने शुरू कर दिये और कहा कि चाचा तुम संघर्ष करो हम तुम्हारे साथ है।
श्रीकृष्ण वाहिनी के अध्यक्ष विजय यादव ने सम्मेलन को संबोधित करते हुये कहा कि प्रदेश मे तेजी से बदलते राजनैतिक और सामाजिक परिस्थितियों को ध्यान मे रखते हुये शार्ट नोटिस पर यह सम्मेलन बुलाया गया। जिसमे भगवान श्रीकृष्ण के आदर्शों के अनुरूप ही अन्याय की लड़ाई लड़ रहे शिवपाल सिंह यादव को श्रीकृष्ण वाहिनी ने अपना पूरा समर्थन देने का निर्णय लिया है। विजय यादव ने हाथ उठवाकर श्रीकृष्ण वाहिनी के पदाधिकारियोंको शिवपाल यादव का संघर्ष मे कंधे से कंधा मिलाकर साथ देने का संकल्प दिलवाया।

श्रीकृष्ण वाहिनी के प्रदेश महासचिव अशोक यादव ने कुछ प्रमुख समस्याओं पर ध्यान आकृष्ट कराते हुये सरकार से यह मांग की है कि वह जल्द से जल्द खाली पड़े सभी सरकारी विभागों के रिक्त पदों को भरकर, बेरोजगारी से जूझ रहे युवाओ को राहत प्रदान करे। उन्होने सरकारी नौकरी पाने के लिये सरकार द्वारा बेरोजगारो से लिये जाने वाले आवेदन-शुल्क को भी तुरंत समाप्त करने की मांग की। साथ ही जेलों मे क्षमता से अधिक रखे जारहे कैदियों के साथ हो रहे अमानवीय व्यवहार को सरकार से खत्म करने तथा मानवाधिकार आयोग से इसका संज्ञान लेने की मांग की।
समाजवादी सेक्युलर मोर्चे को अपना समर्थन देने वाले अन्य संगठनों मे निषाद संघ, सामाजिक न्याय मोर्चा, यादव सेना,राष्ट्रीय यादव सेना, सामाजिक उद्योग व्यापार मंडल, सुनार समाज आदि शामिल हैं। शिवपाल को इससे नई ताकत मिलती दिख रही है। सम्मेलन मे बड़ी संख्या मे प्रदेश के कोने-कोने से प्रतिनिधि आये थे।

राज्य प्रतिनिधि सम्मेलन मे मुख्य रूप से निषाद संघ के प्रदेश अध्यक्ष कैलाश निषाद, सामाजिक उद्योग व्यापार मंडल के अध्यक्ष रामबाबू रस्तोगी, सामाजिक न्याय मोर्चा के संयोजक मनोज यादव, यादव सेना के अध्यक्ष शिवकुमार यादव, राष्ट्रीय यादव सेना के अध्यक्ष मनोज यादव, अरविंद बाजपेयी, पत्रकार विजय विद्रोही, मुलायम सिंह पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अनिल वर्मा, लखनऊ जिलाध्यक्ष उपेंद्र सिंह, सलमान रिजवी, अजीत सिंह, संदीप पांडे, अतुल द्विवेदी, उपेंद्र सिंह, नूरी मलिक, नूरूल हसन, अतुल यादव आदि ने भाग लिया।

Back to top button
E-Paper