लखनऊ गोलीकांड : पत्नी ने कहा- CM बताएं मेरा और मेरे बच्चे का क्या होगा, देखे VIDEO   

vivek tiwari

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में पुलिस कॉन्स्टेबल ने शनिवार तड़के एक शख्स को गोली मार दी। पुलिस ने ये कार्रवाई किसी अपराधी के खिलाफ नहीं की, बल्कि एप्पल के एरिया मैनेजर को गोली मारी। पुलिस कॉन्स्टेबल ने इसे अपनी आत्मरक्षा में उठाया गया कदम बताया है, लेकिन किसी कंपनी के मैनेजर भला एक पुलिस वाले को किस बात का खतरा हो सकता है।

मृतक विवेक तिवारी के जीजा विष्णु शुक्ला का कहना है, ‘क्या वह एक आतंकवादी थे जो पुलिस ने उनपर गोली चलाई? हमने योगी आदित्यनाथ को अपने प्रतिनिधि के रूप में चुना, हम चाहते हैं वह इस मामले पर संज्ञान लें और वहीं इस पूरे मामले में पीड़िता यानी मृतक की पत्नी ने पुलिस पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं। कल्पना तिवारी का कहना है,

पुलिस को मेरे पति पर गोली चलाने का कोई अधिकार नहीं, यूपी के मुख्यमंत्री यहां आएं और मुझसे बात करें।’ उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री बताए मेरा और मेरे बच्चे का अब क्या होगा।

वहीं मामले में पुलिस कॉन्स्टेबल प्रशांत चौधरी का कहना है, ‘रात 2 बजे मैंने एक संदिग्ध कार देखी जिसकी लाइट बंद थी, जब मैं कार के पास पहुंचा तो ड्राइवर (विवेक तिवारी) तीन बार मुझ पर कार चढ़ाने की कोशिश की और मुझे मारने का प्रयास किया। मैंने आत्मरक्षा में गोली चलाई।

विवेक तिवारी के साथ कार में मौजूद उनकी सहकर्मी का कहना है कि मैं फिलहाल इस मामले में कुछ भी कह पाने की स्थिति में नहीं हूं। मैं चाहती हूं कि गुनहगार को सजा मिले। मैं किसी भी दबाव में नहीं हूं।

मामले में उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या का कहना है कि मामले की जांच चल रही है। यदि एक बेगुनाह व्यक्ति की हत्या पुलिस ने की है, तो इसकी जांच होगी। दोषी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

उत्तर प्रदेश के एडीजी लॉ एंड ऑर्डर का कहना है कि यह एक दुखद घटना है। दोनों पुलिसकर्मी के खिलाफ आईपीसी की धारा 302 के तहत हत्या का मामला दर्ज कर लिया गया है। आरोपी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

Back to top button
E-Paper