पड़ोसी ने ही कुकर्म के बाद मासूम को मारकर फेंका था कूड़ेदान में, गिरफ्तार

 क़ुतुब अंसारी / अशोक सोनी
जरवल ( बहराइच ) आर एस एस स्वयं सेवक किराना व्यापारी विवेक गुप्ता के छः वर्षीय मासूम आर्य कुमार उर्फ शिवा इसी मंगलवार को जब रहस्यमय तरीके से गायब हुआ फिर दूसरे दिन बुद्धवार की सुबह सूर्य की किरणों की पौ फटते समय मिली उस मासूम की डस्टबीन मे उसी के घर के पास खाली पड़े प्लाट मे मिली उसकी लाश ने तमाम तरह के सवालो को जन्म तो जरूर दे गया पर हत्या करने वाला कोई और नही बल्कि मासूम का हत्यारा उसका ही पड़ोसी निकला जिसने नर पिचास जैसा घिनौना काम करके मानवता को शर्म शार करके रख दिया।
लेकिन इस जाधन्य वारदात को अंजाम देने वाला शख्स अपने पाप की इस गठरी पर पर्दा डालने के लिए जब उसने पुलिस व पीड़ित परिजनों के आँखों मे धूल झोकते हुए जो बच्चे को ढूंढने की स्क्रिप्ट तैयार की वह उसी मे जाकर फस गया।और जब शक के बिना पर पुलिस के हत्थे चढ़ा तो उसने अपना जुर्म भी पुलिस की थोड़ी सख्ती के आगे टूट कर सब कुछ सच सच उगल दिया।जानकारों की माने तो थाना जरवल रोड के जरवल कस्बा के पाश इलाका चौक बाजार जहा काफी चहल पहल हुआ करती है वही के रहने वाले आर एस एस का स्वयं सेवक व किराना कारोबारी विवेक गुप्ता जो कि आर्य समाज का मन्त्री भी है दिन के ग्यारह बजे के करीब उसका मासूम छः वर्ष का पुत्र आर्य कुमार उर्फ शिवा जी घर से रोज की तरह खेलने निकला फिर अचानक गायब हो गया.
बेटे के न आने पर उसके पिता ने बेटे के अपहरण की शंका जरवल पुलिस के सामने जताई जिसपर पुलिस व उसके परिजनों ने उसकी खोज शुरू की उस वक्त उसका पड़ोसी अर्जुन उर्फ बबलू जायसवाल पुत्र वेद प्रकाश भी था लेकिन वह बच्चा मिला नही लेकिन बुद्धवार की सुबह मृतक के घर से चंद कदम की दूरी पर एक खंडहर मे प्लास्टिक के एक डिब्बा मे उसकी लाश दिखाई दी शक के आधार पर पुलिस ने अर्जुन को अपने कस्टडी मे लिया तो उसने बताया कि एक बजे के करीब उसके घर के पास शिवा जी जब दिखाई दिया मैने उसे घर पर खेलने के लिए बुलाया फिर उसके साथ संभोग करने का प्रयास किया बालक के चीखने चिल्लाने के डर को लेकर मैने उसका मुहँ बंद कर दिया उस समय मुझे वासना की भूख ने अंधा कर दिया था।
तभी मेरे कुछ मेहमानों का घर आने का फोन आ गया मॉ काफी डर गया कि कही राज ये बच्चा खोल न दे उसी के नेकर से उसका गला दबा कर डिब्बे मे बंद कर दिया जिससे उसकी मौत हो गई उसी वक्त मेरे मेहमान भी आ गए जिन्हे बाहर कमरे मे जलपान करवा कर विदा कर दिया।और देर रात को बच्चे की बन्द डिब्बे मे लाश की अपने घर के पिछवाड़े खाली पड़े प्लाट मे फ़ेक दिया की बात पुलिस को बताई पुलिस ने अभियुक्त अर्जुन के खिलाफ धारा 363,302,201 व 5 एम/6 के तहत मुकदमा पंजीकृत कर जेल भेज दिया।
*मुस्लिम समाज ने मानवता का दिया संदेश मस्जिदों मे दुआ मांगी*
 आर एस एस कार्यकर्ता विवेक गुप्ता के मासूम बेटे शिवा जी की निर्मम हत्या को लेकर जरवल के मुस्लिम समाज ने दिखाई मानवता अभियुक्त के पकड़े जाने व उसकी मासूम की आत्मा की शान्ति को लेकर मस्जिदों मे दुआ भी माँगी गई बताते चले मंगल वार को जब शिवाजी गायब हुआ तो ये खबर जंगल मे आग। की तरह जब फैली तो अजान से पहले मस्जिदों से एलान भी होने लगा कि शिवा जी बाजार से गायब है जिन्हे भी दिखाई दे उसे उसके घर पहुँचा दे मस्जिदों का ये एलान सौहार्दपूर्ण संदेश को भी देता गया।
*मम्मी मैगी बना के रखो अभी खेल कर आ रहा हूँ*
जरवल।अपनी तुतलाती मासूमियत के साथ शिवा घर के बाहर अपनी साइकिल को रखते हुए माँ से कहता गया था कि मम्मी मैगी बना कर रखो अभी आ रहा हूँ।बस ये अंतिम बोल मासूम शिवा जी के उसकी माँ के कानों तक पहुँच पाए थे फिर माँ के कलेजे शिवा के बोल हमेशा हमेशा के लिए न जाने कहाँ चले गए।शिवा माँ के ममता के आंचल से भले ही दूर बहुत दूर हो पर आज भी शिवा की माँ व पिता की गोद मे शिवा न जाने क्यों बार बार दिखाई दे रहा है जिसे शिवा के मा बाप अपने लाडले को याद कर हर मिलने जुलने वाले को देख कर यही कहते है क्या मेरे शिवा को कही देखा है फिर बदहवास होकर फफख पड़ते है।
Back to top button
E-Paper