एसडीएम ने घरों में चल रहे अवैध बूचड़खानो पर मारा छापा, मकान सील कर किया 3 आरोपियों को गिरफ्तार

भास्कर समाचार सेवा
हापुड़। बुधवार की सुबह मोहल्ला मजीदपुरा में नालियों में खून बहता मिलने की सूचना पर सदर एसडीएम दिग्विजयसिंह ने कोतवाली पुलिस के साथ मिलकर दो मकानों में चल रहे अवैध बूचड़खाने पर छापा मारकर दो स्थानों से तीन लोगो को अवैध कटान करते हुए पकडा। जबकि दो आरोपी फरार हो गए पुलिस दोनों फरार आरोपियों की तलाश में जुटी हैं।
मिली जानकारी के अनुसार कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला मजीदपुरा में अलग अलग दो मकानों पर कुछ लोगों द्वारा अवैध बूचड़खाना का संचालन किया जा रहा है। एसडीएम को जैसे ही सूचना मिली तो आनन फानन में एसडीएम दिग्विजय सिंह पुलिस अधिकारी के साथ मौके पर पहुंचे। एसडीएम दिग्विजय सिंह और कोतवाली प्रभारी सोमवीर सिंह ने जांच पड़ताल की। इस दौरान दोनों बूचड़खानों से पुलिस ने कटी हुई भैंस व अवशेष बरामद किये। इस दौरान तीन आरोपी पकड़ लिये गए। पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने अपने नाम लियाकत, अब्दुल अजीज व नदीम बताए है। पुलिस फरार दोनो आरोपियों की तलाश में जुटी है। इस दौरान मकान को भी सील कर दिया गया।
कोतवाली प्रभारी सोमवीर सिंह ने बताया कि दोनो आरोपी की तलाश करते हुए मुकदमा पंजीकृत कर कार्रवाई की जा रही है। किसी भी सूरत में अवैध बूचड़खाने नहीं चलने दिए जाएंगे।
एसडीएम दिग्विजयसिंह सिंह के अनुसार अनुसार पकड़े गए आरोपी पिछले आठ माह से इस काम को अंजाम दे रहे थे। इस अवैध बूचड़खाने का खुलासा नालियों व सड़को पर बह रहे खून से हुआ। सफाई कर्मियों ने नालियों में खून बहने की सूचना अफसरों को दी। पुलिस पूछताछ में आरोपी लियाकत ने बताया कि वह मीट बेचने का काम भी करता है। ऐसे में घर मे काटकर ही इस काम को चला रहा था। एसडीम ने बताया कि इस धंधे से जुड़े हुए अन्य लोगों की तलाश की जा रही है।

Back to top button