यूपी को अभी भी बारिश से राहत नहीं: अगले 48 घंटे पड़ सकते है भारी 

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ सहित राज्य के अधिकांश जिले भारी बारिश की चपेट में है। कई जगहों पर तेज बारिश की वजह से नदियां उफान पर हैं। पिछले कुछ दिनों से लगातार हो रही बारिश की वजह से रेल, सड़क एवं हवाई यातायात पूरी तरह से बाधित हुआ। वहीं लखनऊ मौसम विभाग के निदेशक जे.पी गुप्ता ने बताया कि अगले 48 घंटों तक रुक-रुककर तेज बारिश होती रहेगी। अभी बारिश से राहत मिलने की उम्मीद नही है। मानसून पूरी तरह से सक्रिय हो गया है। बारिश का दौर इस सप्ताह के अंत तक चलेगा।

गुप्ता के मुताबिक, भारी बारिश को देखते हुए पूर्वांचल के अधिकांश जिलों में चेतावनी जारी की गई है और अधिकारियों को किसी भी स्थिति से सतर्क रहने को कहा गया है। मौसम विभाग के अनुसार, सोमवार को लखनऊ का न्यूनतम तापमान 19 डिग्री सेल्सियस जबकि अधिकतम तापमान 32 डिग्री सेलिसयस दर्ज किया गया।

लखनऊ में बारिश के बाद कार पर गिरा पेड़। (Photo- Live Hindustan)

 इस बीच सूबे में पिछले कई दिनों से हो रही भारी बाशि को देखते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में बाढ़ की स्थिति की समीक्षा की। इस दौरान मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को साफतौर पर निदेर्श दिया कि संवेदनशील जगहों पर बाढ़ की चौकियां स्थापित की जाएं और तटबंधों में आई दरारों को जल्द से जल्द भरने का काम किया जाए।

बिहार में भी बरस सकते हैं बादल
बिहार में भी मानसून अभी परवान पर है। बिहार की राजधानी पटना सहित कई जिलों में लगातार भारी बारिश हो रही है। मंगलवार को बिहार के कई जिलों में भी भारी बारिश देखने को मिल सकती है। पूर्वानुमान के मुताबिक राज्य के कई हिस्सों हल्की और भारी बारिश होने की संभावना है। मौसम विभाग ने अपने पूवार्नुमान में कहा है कि अगले 24 से 48 घंटे के दौरान राज्य के अधिकांश क्षेत्रों में बादल छाए रहने तथा हल्की से मध्यम बारिश होने का अनुमान है।

पटना में बारिश के कारण कई जगहों पर हुए जलभराव से जिला प्रशासन ने सोमवार को राजधानी के सभी निजी और सरकारी स्कूलों कां बंद रखने का आदेश दिया है।

हिमाचल में हल्की से लेकर भारी बारिश
हिमाचल प्रदेश के कुछ हिस्सों में हल्की से लेकर भारी बारिश हुई है। बारिश के कारण राज्य में कुफरी सबसे ठंडा स्थान रहा और यहां का न्यूनतम तापमान 10.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम विभाग ने बताया कि पिछले 24 घंटों में धर्मशाला में 56.8 मिलीमीटर बारिश हुयी। इसके बाद चैल में 14 मिलीमीटर, सिरमौर जिले में स्थित पोंटा साहिब में तीन मिलीमीटर और कुल्लू जिले के मनाली में 1.4 मिलीमीटर बारिश दर्ज किया गया।

आंकड़ों के मुताबिक, पिछले 24 घंटों के दौरान कुफरी राज्य में सबसे ठंडा स्थान रहा और यहां का न्यूनमत तापमान 10.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। केयलोंग का न्यूनतम तापमान 11.3 डिग्री सेल्सियस, मनाली का न्यूनतम तापमान 11.6 डिग्री सेल्सियस, कलपा का न्यूनतम तापमान 14 डिग्री सेल्सियस, चैल का न्यूनतम तापमान 15.5 डिग्री सेल्सियस, शिमला एवं डलहौजी का न्यूनतम तापमान 15.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

एमपी में कमजोर पड़ा मानसून
मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल सहित राज्य के कई हिस्सों में मंगलवार सुबह तेज धूप निकलने से उमस का असर बढ़ा है। मौसम विभाग ने आगामी 24 घंटों में कुछ स्थानों पर गरज-चमक के साथ बौछारें पड़ने की संभावना जताई है। राज्य में मंगलवार सुबह से धूप खिली है जिससे उसम परेशान करने वाली है। राज्य में मानसून कमजोर पड़ने के चलते आसमान पर बादल छा रहे हैं लेकिन बरस नहीं रहे। मौसम विभाग के अनुसार, राज्य के आसपास बारिश का कोई सिस्टम नहीं बन रहा है जिससे आगामी दिनों में भी जोरदार बारिश के आसार कम ही हैं।

Back to top button
E-Paper