यूपी : विवाहिता व रिस्तेदार को दबंगो ने पेड़ में बांधकर दी तालिबानी सजा 

क़ुतुब अंसारी
बहराइच l एक व्यक्ति के घर उसका मामा तीन दिन पूर्व आकर ठहरा। रात में कमरे के अंदर मोबाइल चार्जिंग पर लगाकर बाहर सो रहा था। देर रात वह मोबाइल लेने कमरे में जैसे ही घुसा, उसी दौरान परिवार के कुछ सदस्यों ने कमरे को बाहर से बंद कर दिया। लोगों को बुलाने के बाद कमरे में बंद ममिया ससुर व बहू को बाहर निकालकर पीटा। फिर पेड़ से बांध दिया। मुंबई से लौटे महिला के पति ने अपने चाचा व कुछ अन्य लोगों पर साजिश के तहत पूरा मामला गढ़ने का आरोप लगाते हुए तहरीर दी है। पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। आरोपी फरार हैं। उनकी तलाश में दबिश दी जा रही है।
जानिए क्या है पूरा मामला 
नवाबगंज थाना अंतर्गत ग्राम सतीजोर निवासी सहाबुद्दीन ने थाने पर दी गई तहरीर में कहा है कि मुंबई के लातूर में नौकरी करता है। उसके मामा रिजवान  घर का हालचाल लेने के लिए आए थे।
मोबाइल को चार्जिंग के लिए कमरे में लगा दिया था। सहाबुद्दीन का कहना है कि देर रात में मामा रिजवान मोबाइल लेने के लिए जैसे ही कमरे में घुसे। उसी समय साजिश के तहत चाचा उस्मान व मकबूल ने कमरे की कुंडी बाहर से बंद कर ताला लगा दिया। इसके बाद गांव निवासी अख्तर, ढिम्मन, सिराज खां, मेराज खां, छोटू, मिज्जन व रज्जब को बुलाकर भोर में तीन बजे घर की कुंडी खोलकर पत्नी व मामा पर गंभीर आरोप मढ़े।
फिर अपशब्दों का प्रयोग करते हुए अभद्रता कर दोनों को मारते-पीटते हुए घर के बाहर यूकेलिप्टस के पेड़ से बांध दिया। सहाबुद्दीन का कहना है कि पिटाई में मामा व पत्नी को गंभीर चोटे आई हैं। सुबह गांव के लोगों ने किसी तरह बंधन मुक्त कराया। उसका कहना है कि पत्नी ने फोन कर पूरे मामले की सूचना दी।
तब वह मुंबई से घर पहुंचा है। पति की तहरीर पर पुलिस ने उसके नौ लोगों को नामजद करते हुए साजिश के तहत मारने-पीटने, प्रताड़ित कर बदनाम करने का केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। आरोपी फरार हैं पुलिस उनकी तलाश में दबिश दी जा रही है।
Back to top button
E-Paper