अब इस देश की तकनीक से और स्मार्ट होंगे अलीगढ़ के लॉक, जानिए कैसे

अलीगढ़ समेत यूपी के जिलों में ताइवान निवेश की राह तलाश रहा है। अलीगढ़ की ताला-हार्डवेयर इंडस्ट्री को ताइवान अपनी तकनीक हस्तांतरित करेगा। ताइवान से एक औद्योगिक दल 25 नवंबर को अलीगढ़ आएगा। मशीनरी, तकनीक हस्तांतरण व निवेश को लेकर डेलिगेशन अलीगढ़ के उद्यमियों से संवाद करेगा। अलीगढ़ में अभी तक स्मार्ट लॉक नहीं बनता है। जबकि स्मार्ट लॉक बनाने की तकनीक ताइवान के पास है।


अलीगढ़ में अभी नहीं बनता है स्मार्ट लॉक

ताला नगरी अलीगढ़ के ताले विदेशों तक मशहूर हैं। महानगरों के पांच सितारा होटल से लेकर घरों तक स्मार्ट लॉक की डिमांड हैं। लोग साधारण लॉक का इस्तेमाल कम कर रहे हैं। घरों में लोगों ने बॉयो मैट्रिक लॉक लगाने शुरू कर दिए हैं। लेकिन अलीगढ़ में स्मार्ट लॉक नहीं बनाए जाते हैं। स्मार्ट लॉक बनाने की तकनीक ताइवान के पास हें। इसी के चलते व्यापारियों ने ताइवान के कारोबारियों से संपर्क किया।

अलीगढ़ की इंडस्ट्री का भ्रमण करेगा प्रतिनिधि मंडल

IIA के सचिव व एक्सपोर्टर मनीष बंसल के मुताबिक ताला व हार्डवेयर इंडस्ट्री में अलीगढ़ का सारी दुनिया में दबदबा है। लेकिन स्मार्ट लॉक न बनाने के कारण अलीगढ़ पिछड़ रहा था। जिसके चलते IIA ने ताइवान से तकनीक ट्रांसफर कराने को लेकर बातचीत शुरू की। इससे पिन सिलेंडर, पैड लॉक, मोर्टिस लॉक के बाद स्मार्ट लॉक का निर्माण अलीगढ़ में हो सकेगा।

ताइवान का प्रतिनिधि मंडल 25 नवंबर को अलीगढ़ आएगा और ताला नगरी में लगी विभिन्न यूनिटों का भ्रमण भी करेगा। अलीगढ़ के व्यापारियों के साथ उनकी बैठक होगी। इस प्रतिनिधि मंडल में ताइवान एक्सपोर्ट डेवलपमेंट काउंसिल के मैनेजर जयसन लिन, ताइवान एक्सपोर्ट डेवलपमेंट काउंसिल व IIA अंतरराष्ट्रीय अफेयर की चेयरपर्सन व प्रोजेक्ट मैनेज रेखा शामिल होंगी। इसके बाद ताइवान की तकनीकी व मशीनरी के स्थानांतरण की अन्य कागजी कार्रवाई पूरी की जाएगी।

Back to top button
E-Paper