किसी भी संकट की घडी में  चुनौती का सामना  करने के लिए वायुसेना तैयार

  • .तीनों सेना अध्यक्षों ने वायुसेना दिवस समारोह में लिया भाग
  • . पूर्व भारतीय क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर भी पहुचे समारोह में

-अतुलशर्मा –

गाजियाबाद। हिंडन एयरफोर्स स्टेशन पर आयोजित स्थापना दिवस समारोह में वायु सेना के  जाबांज जवानों ने अपने शौर्य का लौहा मनवाया। वायुसेना के 86वें स्थापना दिवस के मौके पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंदए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीए भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भारतीय वायुसेना के कार्यों की सराहना करते हुए बधाई दी है। हिंडन एयरबेस पर वायुसेना के लड़ाकू विमानों ने आसमान की सीना चीरकर ताकत का अहसास कराया। भारत के जंगी विमानों की ताकत को आज पूरी दुनिया ने देखा। समारोह में तीनों सेना के प्रमुख जहां मौजूद रहे वहीं आॅनरेरी ग्रुप कैप्टन और पूर्व भारतीय क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर भी मौजूद रहे। वायुसेना प्रमुख बीएस धनोआ ने कहा कि वायुसेना किसी भी तरह की चुनौती का सामना करने के लिए तैयार है।

उन्होंने कहा कि हमारी ताकत लगातार बढ़ रही है। अपाचेए राफेलए र.400 जैसे सिस्टम हमारी ताकतें बढ़ाएंगे। उन्होंने कहा कि भारतीय वायु सेना ने आस्टेलियाए रशियाए इजराइलए सिंगापुरए श्री लंकाए बांग्लादेशए नेपाल के साथ द्विपक्षीय अभ्यास के दौरान दुनिया को अपनी ताकत का अहसास कराया है। उन्होंने कहा कि एंटी नक्सल आॅपरेशन त्रिवेणी में पैरामिलेट्री फोर्स के साथ मिलकर एयरफोर्स ने अपने छह हेलीकाप्टरों के साथ 24 घंटे तक लगातार सहयोग किया। उन्होंने कहा कि वायुसेना केवल दुश्मनों से देश की रक्षा नहीं करती हैए बल्कि जब कभी भी देश पर संकट आता है तो वायुसेना हमेशा मदद के लिए तैयार रहती है। पिछले दिनों जब केरल में बाढ़ ने भारी तबाही मचाई थी उस समय एयरफोर्स ने बड़े पैमाने पर राहत आॅपरेशन चलाकर बाढ़ की वजह से घर की छतों पर फंसे लोगों को सकुशल सुरक्षित जगहों पर पहुँचाया था। भारतीय वायुसेना के हेलीकॉप्टरों ने राहत सामग्रीए दवाएंए राशन और खाने और पीने की चीजे बाढ़ में फंसे लोगों तक पहुंचाई थी।

उन्होंने कहा कि भारत को अपनी वायुसेना पर गर्व है। कैलाश मानसरोसर यात्रा हो या फिर अमरनाथ यात्राए यात्रियों को जब.जब परेशनी आई वायुसेना उनके लिए मददगार साबित हुई है। खेलों के क्षेत्र में भी भारतीय वायुसेना ने बेहतर प्रदर्शन किया है। कॉमन वेल्थ गेम्स हों या फिर इंटरनेशनल शूटिंग स्पोर्ट्स फेडरेशन वर्ल्ड कप एशियाए सभी में भारतीय वायु सेना के जवानों ने अच्छा प्रदर्शन किया है।

इससे पूर्व उन्होंने परेड की सलामी ली।  स्थापना दिवस समारोह का आगाज आकाश गंगा दल की टीम ने पैराजम्पिंग से हुआ। आठ हजार फुट की ऊंचाई से कलरफुल पैराशूट के साथ जम्प करने वाले जवानों एवं अफसरों को देखने के लिए लोगों की आंखें आसमान में ही लगी रहीं। परेड ग्राउंड पर धुन के साथ जवानों की टोली आई तो माहौल साहसए बहादुरी और देश के लिए कुछ कर गुजरने का बन गया। सारे जहां से अच्छा हिन्दुस्तान हमारा की धुन पर कदम ताल करते हुए परेड ने शौर्य का प्रदर्शन किया। बता दें कि आकाशगंगा टीम का नारा है. छतरी माता की जय।

एयर वॉरियर्स ड्रिल टीम के प्रदर्शन ने सबको चैंका दिया। साढे“ पांच किलों की राइफल को उंगलियों पर घुमाने के अंदाज ने सभी को कायल कर दिया। जवानों के इस प्रदर्शन को सबसे अधिक तालियां मिलीं। कम ऊंचाई पर कई लड़ाकू विमानों ने उड़ान भरी। मिग.29 के अलावा मिराज.2000 ने भी उड़ान भरी। मिग.21 ने आसमान का सीना चीरकर वायु सेना की ताकत का प्रदर्शन किया। परेड के दौरान तीन हेलीकाप्टरों की कम ऊंचाई पर उड़ान ने चार चांद लगा दिए। नौ सूर्य किरण एरोबेटिक विमानों की टीम का प्रदर्शन भी किया गया। विंग कमांडर दीपक शर्मा व आलोक यादव के नेतृत्व में पैरा जंपर्स ने मिलकर अलग रंग के पैराशूट से तिरंगे की संरचना और स्काई डाइविंग के कई करतब दिखाए। समारोह में वायुसेनाए थल सेना और जल सेना के प्रमुख ने बतौर मुख्य अतिथि शिरकत की है। एयरफोर्स.डे परेड में एयर चीफ मार्शल बीएस धनोवा देश के लिए उत्कर्ष सेवा देने के लिए करीब 48 जवानों को सम्मानित किया। परेड में 44 अधिकारी और 258 जवानों ने वायुसेना की ताकत का प्रदर्शन किया।

वायुसेना दिवस के मौके पर परेड ग्राउंड पर लगे पर्दे पर वायुसेना की ताकत गगन शक्ति का परिचय कराया गया। गगन शक्ति इसी साल किए गए युद्ध अभ्यास में शामिल हुआ था।  इस दौरान एयरचीफ मार्शल बीएस धनोआ को वायुसेना के एमआई 17 हेलिकॉप्टर्स ने सलामी भी दी।  वायुसेना के पश्चिम जोन के एयर मार्शल ने परेड का निरीक्षण किया। वायुसेना दिवस समारोह की अग्रिम पंक्ति में बैठे ग्रुप कैप्टन सचिन तेंदुलकर ने आर्मी चीफ विपिन रावत से बातचीत भी की।

फ्लाइट लेफ्टिनेंट अंगद की अगुआई में परेड ग्राउंड निशान टोली पहुंची तो सभी वायुसेना के जवानों ने सेल्यूट कर अभिवादन किया।  हिंडन एयर फोर्स स्टेशन पर डकोटा मालवाहक विमान ने भी उड़ान भरी। साथ ही निशान टोली की कमान महिला फ्लाइंग लेफ्टिनेंट पीण् राव संभाली। वायुसेना का हरक्यूलिसए ग्लोबमास्टर सी.17ए मिराजए सारंग और सूर्य किरण टीम ने हैरतअंगेज करतब कर रोमांचित कर दिया। रोहिणी और स्पाइडर रडार ने भारत की ताकत का अहसास कराया। वायुसेना के सबसे आधुनिक कमांडो गरुड़ की टीम ने भी अपने शौर्य व ताकत का प्रदर्शन किया। एयर वॉरियर की टीम और टीम सारंग के साथ ही विंटेज विमान टाइगर मौथ ने भी लोगों को अपनी ओर आकर्षित किया।

Back to top button
E-Paper