ब्रैकिंग : नितीश की मंत्री मंजू वर्मा ने दिया इस्तीफा, सीएम-डिप्टी सीएम ने कही ये बात

पटना :  मुजफ्फरपुर बालिक गृह रेप कांड में विपक्ष के बढ़ते दबाव के बीच बिहार की समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा ने इस्तीफा दे दिया है। इस मामले की जांच सीबीआई कर रही है और ऐसे अंदेशा जताया जा रहा है कि इसकी आंच मंजू वर्मा के पति चंद्रेश्वर वर्मा तक भी पहुंच सकती है। आपको बता दें कि इससे पहले मंजू वर्मा के इस्तीफे के सवाल पर बिहार सीएम नीतीश कुमार ने कहा था कि मंत्री ने उनसे मिलकर सफाई दे दी है। उन्होंने कहा था कि बिना वजह कैसे जिम्मेदार ठहराया जाए।

मुजफ्फरपुर के एक शेल्टर होम में 34 बच्चियों से रेप की घटना सामने आने के बाद सूबे और देश की राजनीति में भूचाल आ गया था। शेल्टर होम रेप केस में अबतक मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर समेत 10 आरोपी गिरफ्तार किए जा चुके हैं। केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने मुजफ्फपुर शेल्टर होम रेप केस की जांच पूरी तरह से अपने हाथ में ले ली है।

सीबीआई की टीम ने स्थानीय पुलिस और प्रशासन से इस मामले से जुड़े सभी दस्तावेज और सबूत ले लिए हैं। इसके साथ ही जांच एजेंसी की टीम टीआईएसएस (टाटा इंस्टिट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज) के संपर्क में है, जिसने मुजफ्फरपुर के शेल्टर होम का ऑडिट किया था।

मंत्री मंजू वर्मा के पति पर बालिका गृह जाने का लगा आरोप

समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा के पति पर आरोप लगा है कि वो बालिका गृह में अक्सर जाते थे और बच्चियां उन्हें पेट वाले अंकल के नाम से जानती थीं। बच्चियों ने भी बताया कि पेट वाले अंकल आते थे। आरोप लगने के बाद मंत्री मंजू वर्मा ने इस बात से इन्कार किया और कहा कि मेरे पति मेरे साथ एक बार गए थे। उन्होंने कहा कि आरोप सिद्ध हो गया तो इस्तीफा दे दूंगी।

इसके साथ ही मंत्री ने ये भी कहा था कि मैं अकेली महिला मंत्री हूं और छोटी जाति से आती हूं इसलिए मुझे परेशान करने के लिए ये आरोप लगाए गए हैं। उन्होंने कहा कि आरोप लगाने वाले लगाएं लेकिन मेरे पति ने एेसा कुछ किया ही नहीं।

विपक्ष ने बोला हमला-सीएम नीतीश से पूछा सवाल

मालूम हो कि बिहार के इस हाई प्रोफाइल मामले में सीएम नीतीश कुमार और मंत्री मंजू वर्मा से विपक्ष लगातार इस्तीफा मांग रहा है। राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने नीतीश कुमार पर बड़ा हमला किया और कहा कि नैतिकता के सवाल पर रेल मंत्री पद से इस्तीफा देनेवाले नीतीश जी की नैतिकता आज कहां चली गई है।

वहीं राजद नेता रघुवंश प्रसाद सिंह ने नीतीश कुमार से पूछा कि कहीं उनको कुशवाहा वोट बैंक बिखरने का डर तो नहीं सता रहा है। इस घटना से नीतीश जी का चेहरा और चरित्र दोनों आज उजागर हो गया है।

बता दें कि मुजफ्फरपुर बालिका गृह यौनशोषण मामले पर बिहार के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने भी चिंता व्यक्त की थी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को पत्र लिखकर सुझाव भी दिया था। साथ ही राज्यपाल ने इस घटना को निंदनीय बताया था।

Back to top button
E-Paper