COVID-19 के खतरे के बीच CM केजरीवाल बोले-लॉकडाउन परमानेंट समाधान नहीं, हमारी सरकार…

नई दिल्ली:  देश की राजधानी दिल्ली में कोरोनावायरस (Coronavirus) के लगातार बढ़ते मामलों के बीच सरकार की ओर से किए गए इंतजामों को लेकर राज्य के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने शनिवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की. मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि हम मानते हैं कि दिल्ली में कोरोना के मामलों में वृद्धि दर्ज की गई है, लेकिन चिंता करने की जरूरत नहीं है, मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि हम पूरी तरह से तैयार हैं. हम राज्य में स्थायी लॉकडाउन नहीं कर सकते हैं. केजरीवाल ने कहा कि कोरोना के मामले बढ़ना चिंता का विषय है लेकिन डरने की जरूरत नहीं है, मैं आपको भरोसा दिलाता हूं कि हमारी सरकार कोरोनावायरस से चार कदम आगे है. मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि कोरोनावायरस रहेगा, इसलिए इसके साथ रहने का इंतजाम करना पड़ेगा. दिल्ली के मुख्यमंत्री होने के नाते दो चीजों पर मेरी चिंता होगी. पहली- अगर मौत का आंकड़ा तेज़ी से बढ़ने लगे और दूसरा- कोरोना के मरीज़ ज़्यादा हो और बेड कम हों. दिल्ली में पिछले कुछ दिन से रोजाना 1000 से ज्यादा लोग कोरोना संक्रमित हो रहे हैं. ऐसे हालात में मुख्यमंत्री केजरीवाल की यह कॉन्फ्रेंस अहम मानी जा रही है.

कोरोनावायरस का प्रकोप थमने का नाम ही नहीं ले रहा है. स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार शनिवार सुबह तक देश में 1,73,763 मरीज सामने आए हैं, जबकि 4,971 लोगों की मौत हो गई है. 24 घंटे में सबसे ज्यादा नए केस और सबसे ज्यादा हुई मौतें हुई हैं. 24 घंटे में COVID-19 के 7964 नए मामले सामने आए हैं जबकि 265 लोगों की मौत हो चुकी है. हालांकि, 82370 मरीज इस बीमारी को मात देने में सफल भी हुए हैं. पिछले 24 घंटों में अब तक सबसे ज़्यादा 11,264 मरीज़ रिकवर हुए हैं. रिकवरी रेट की बात करें तो वह बढ़कर 47.40 प्रतिशत हो गई है.

Back to top button
E-Paper