J&K : आतंकियों ने पुलिसकर्मियों के अगवा रिश्तेदारों को रिहा, मगर दी अाखिरी चेतावनी

नयी दिल्ली  : आतंकी संगठन हिज्बुल मुजाहिदीन के कमांडर रियाज नाइकू ने पुलिसकर्मियों के परिजनों के अपहरण की जिम्मेदारी ली और पुलिस हिरासत में बंद आतंकवादियों के परिजनों को तीन दिन के भीतर रिहा करने की मांग की।

अपहरण की जिम्मेदारी लेने से संबंधित बात सोशल मीडिया पर चल रही एक ऑडियो क्लिप में कही गई है। पुलिस अधिकारियों ने लगभग 12 मिनट की इस क्लिप की प्रामाणिकता की पुष्टि या इसे खरिज करने से इनकार किया। इस क्लिप में नाइकू यह कहता सुनाई देता है, ‘हम इसमें आपके परिवारों को शामिल नहीं करना चाहते।

हमने आपके परिजनों को इसलिए उठाया, ताकि आपको महसूस हो सके कि हमारी मांओं पर उस समय क्या गुजरती है जब आप उनके निर्दोष बच्चों को गिरफ्तार करते हो।’ उसने क्लिप में कहा, ‘हमने आपके परिजनों का इसलिए अपहरण किया, ताकि तुम जान सको कि हम आप तक पहुंच सकते हैं।

इस बार हमने उन्हें पूरी गरिमा के साथ मुक्त किया है, लेकिन अगली बार यह नहीं होगा, हम उसी तरह काम करेंगे जैसे आप करेंगे।’ स्वयंभू हिज्बुल कमांडर ने कहा कि यह आखिरी बार है जब वे उन्हें चेतावनी दे रहे हैं।

बताते चलें कि आतंकियों द्वारा दक्षिण कश्मीर के विभिन्न इलाकों से गुरुवार की रात अगवा किए गए 10 पुलिसकर्मियों के संबंधियों को शुक्रवार रात को मुक्त करा लिया गया है। न्यूज एजेंसी भाषा के मुताबिक, सूत्रों ने बताया कि जिन लोगों को अगवा किया गया था, उन सबको छोड़ दिया गया है। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि वह  इस बात की जांच कर रहे है कि सभी लोग घर वापस आ गए हैं।

पुलिसकर्मियों के परिजन अगवा

पुलिस सूत्रों ने बताया कि दक्षिण कश्मीर से हिजबुल के दो कमांडरों- रियाज नाइको और लतीफ टाइगर के पिता और अन्य लोगों की पुलिस गिरफ्तारी के बाद आंतकवादियों ने गुरुवार देर रात 10  पुलिसकर्मियों के परिजनों का अगवा करने की घटना को अंजाम दिया है। पुलिस ने इन लोगों को दो दिन पहले ही गिरफ्तार किया था। जिनके परिजनों को अगवा किया गया है उनमें पुलिस उपाधीक्षक और उप निरीक्षक स्तर के अधिकारी भी शामिल हैं।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि आतंकवादियों ने गुरुवार रात पांच ऐसे लोगों का अपहरण कर लिया है, जिनके परिजन पुलिस में कार्यरत हैं। इनका कुलगाम से अपहरण किया गया है। सूत्रों ने बताया कि पुलवामा में एक पुलिसकर्मी के घर से आंतकवादियों ने चार परिजनों को अगवा कर लिया और शोपियां में एक पुलिसकर्मी के परिजन का अपहरण कर लिया है। इससे पहले बुधवार को त्राल से एक पुलिसकर्मी के बेटे का अपहरण कर लिया गया था। अपुष्ट सूत्रों के अनुसार, अगवा परिजनों की संख्या 11 है।

आतंकियों के 30 परिजन गिरफ्तार

बताया जा रहा है शोपियां में एक आतंकवादी हमले में चार पुलिसकर्मियों के शहीद होने के बाद बुधवार रात पुलिस ने आतंकवादियों के करीब 30 से अधिक संबंधियों को गिरफ्तार किया था।

हिजबुल कमांडर का पिता रिहा

खबरों के अनुसार, पुलिस ने शुक्रवार को आतंकवादी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन के एक कमांडर के पिता को रिहा कर दिया। हिजबुल किमांडर रियाज नाइकू के पिता असदुल्ला नाइकू को पुलवामा जिले में गिरफ्तार किया गया था।

अलगाववादियों की प्रतिक्रिया

इस तरह की घटनाओं पर अलगाववादी नेताओं सैयद अली शाह गिलानी, मीरवाइज मौलवी उमर  फारूक और मोहम्मद यासीन मलिक ने प्रतिक्रिया में कहा है कि स्थिति और भी बदतर होगी, जिसे संभालना मुश्किल हो जाएगा।

Back to top button
E-Paper