मिशन 2019, बंगाल में भाजपा का मास्टर प्लान तैयार !

यदि भाजपा  इतनी सीटें जीतने या फिर इन सीटों के आसपास भी पहुंचने में कामयाब रहती है तो मिशन 2019 फतह करने में उसे मदद मिलेगी। साथ ही टीएमसी की सुप्रीमो ममता बनर्जी के राष्ट्रीय मंच पर दमदार उपस्थिति के ख्वाब को बड़ा झटका लगेगा।

कोलकाता  : पश्चिम बंगाल के पंचायत चुनावों में भाजपा  का शानदार प्रदर्शन रहा। इससे उत्साहित भाजपा  अब 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव के लिए अपना ब्लूप्रिंट पार्टी अध्यक्ष अमित शाह को सौंपेगी। इसमें पार्टी ने बंगाल की कुल 42 सीटों में से 26 संसदीय सीटों पर जीत का लक्ष्य रखा है। यदि भाजपा  इतनी सीटें जीतने या फिर इन सीटों के आसपास भी पहुंचने में कामयाब रहती है तो मिशन 2019 फतह करने में उसे मदद मिलेगी। साथ ही टीएमसी की सुप्रीमो ममता बनर्जी के राष्ट्रीय मंच पर दमदार उपस्थिति के ख्वाब को बड़ा झटका लगेगा।

42 में से 26 सीटों पर जीतने का लक्ष्य

अमित शाह का 27 जून से पश्चिम बंगाल के दो दिवसीय दौरे पर आने का कार्यक्रम है। इस दौरान अमित शाह प्रदेश के नेताओं के साथ बीजेपी की राजनीतिक रणनीति पर चर्चा करेंगे। बीजेपी आगामी आम चुनावों में पश्चिम बंगाल में अपनी सीटों की संख्या बढ़ाने की कोशिश में है। शाह ने बंगाल की 42 लोकसभा सीटों में से 26 सीटों पर जीतने का लक्ष्य रखा है। पार्टी के पास राज्य में दो लोकसभा सीटें आसनसोल और दार्जिलिंग हैं।

लोकसभा सीटों के लिए पर्यवेक्षक नियुक्त

बीजेपी  के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा, ‘हम अमित शाह को अपनी पूरी रिपोर्ट सौंपेंगे। उन्होंने हमें 22 सीटों का लक्ष्य दिया था, अगर चुनाव निष्पक्ष रूप से हुए तो हम कम से कम 26 सीटें जीतने की स्थिति में होंगे। हम अपनी रणनीति रिपोर्ट उन्हें सौंपेंगे और उनसे मिली दिशा-निर्देशों के अनुसार उसमें सुधार करेंगे।’उन्होंने बताया कि सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस  के ‘आतंक के राज’ के बावजूद पंचायत चुनावों में पिछले महीने बीजेपी के प्रदर्शन ने राज्य में जमीनी स्तर पर उसकी राजनीतिक स्थिति मजबूत की है। पार्टी ने बूथ स्तर पर संगठन को मजबूत करने के लिए राज्य की सभी विधानसभा सीटों के साथ-साथ 42 लोकसभा सीटों के लिए भी पर्यवेक्षक नियुक्त किया है।

प्रदेश नेतृत्व के अनुसार,

प्रदेश नेतृत्व के अनुसार, अमित शाह  सभी बूथों पर समितियों के गठन पर भी रिपोर्ट मांगेंगे। उन्होंने पिछले साल सितंबर में अपने दौरे के दौरान यह लक्ष्य तय किया था। बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव और बंगाल के प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि वे लोग 60 से 70 फीसदी बूथों तक पहुंच चुके हैं। उनका पहला उद्देश्य राज्य के सभी बूथों पर हमारे संगठन को ले जाना और उसे मजबूत करना है।

आईटी सेल बनाने के निर्देश

घोष ने दावा किया कि ग्रामीण चुनावों के बाद पार्टी ने राज्य में 85 फीसदी बूथों तक पहुंच बना ली है। पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व ने बुद्धिजीवियों तक पहुंचने की जरूरत पर जोर दिया है और उसने राज्य ईकाई से एक आईटी सेल बनाने के लिए कहा है। अमित शाह का बुद्धिजीवियों के सम्मेलन को भी संबोधित करने का कार्यक्रम है। प्रदेश बीजेपी के महासचिव सायंतन बसु ने कहा कि पार्टी कई बुद्धिजीवियों के संपर्क में है लेकिन अभी इस बात की पुष्टि नहीं हुई है कि कितने लोग इस कार्यक्रम में भाग लेंगे।

Back to top button
E-Paper