काम की खबर : पेट्रोल पम्प पर हेल्मेट लगाने वालों को ही मिलेगा पेट्रोल-

सडक सुरक्षा समिति की बैठक में जिलाधिकारी ने सम्बन्धित अधिकारियों को दिये निर्देश
अमित शुक्ला 
उन्नाव। जिलाधिकारी देवेन्द्र कुमार पाण्डेय की अध्यक्षता में आज कैम्प कार्यालय पर जनपद स्तरीय सड़क सुरक्षा समिति की बैठक हुई। जिलाधिकारी ने पेट्रोल पम्प मालिकों को सख्त निर्देश देते हुये कहा कि पेट्रोल पम्प पर हेलमेट लगाने वाले व्यक्तियों को ही पेट्रोल दिया जाये। उन्होंने कहा कि सड़क सुरक्षा में खुद की आत्मरक्षा होती है इसलिये हर व्यक्ति को बाईक पर हेलमेट अवश्य लगाना चाहिये। दोपहियां वाहन पर बगैर हेलमेट वालों को अगर किसी पेट्रोल पम्प वाले ने पेट्रोल दिया जाता तो उन पेट्रोल पम्प मालिकों पर कठोर कार्यवाही की जायेगी। इस निमित्त जिला पूर्ति अधिकारी को निर्देश दिये कि जनपद के किसी भी पेट्रोल पम्प पर बगैर हेलमेट के पेट्रोल
न दिया जाये।
जिलाधिकारी ने बढ़ती सड़क दुर्घटनाओं को नियन्त्रित करने के उद्देश्य से स्कूल-कालेजों में सड़क सुरक्षा जागरूकता कार्यक्रमों का आयोजन करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि प्रत्येक विद्यालय में रोड सेफ्टी हेतु ‘नोडल टीचर’ नामित किया जाये तथा अभिभावकों के साथ बैठक कर ये सुनिश्चित किया जाये कि नाबालिक बच्चों को किसी भी दशा में कोई वाहन चलाने न दिया जाये।
उन्होंने यह भी कहा कि स्कूल में आने वाले वाहनों की पार्किंग व्यवस्था, स्कूल आरम्भ होने व छूटने के समय सारिणी का इस प्रकार निर्धारण किया जाये कि विभिन्न स्कूलों के प्रारम्भ होने व छूटने का समय अलग-अलग हो। उन्होंने जिला विद्यालय निरीक्षक, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिये कि वे स्कूल-कालेजों से सम्बद्ध निजी वाहन स्वामियो के वाहनों की सूची वाहन स्वामी व चालक के नाम व पते सहित अपने पास उपलब्ध करा लें। उन्होंने यह भी कहा कि हेलमेट सीट बेल्ट के प्रयोग की जागरूकता स्कूली बच्चों को अवश्य दें ताकि बढ़ती हुई दुर्घटनाओं में रोक लगाई जा सके।
जिलाधिकारी ने परिवहन विभाग को निर्देशित किया कि वे स्कूलों में संचालित वाहनों के फिटनेस एवं उच्चतम न्यायालय द्वारा दिये गये मानको के अनुसार कार्यवाही सुनिश्चित करें। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग को भी निर्देशित किया गया कि समय पर चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराना सुनिश्चित कराने तथा निर्धारित लोकेशन पर एम्बुलेंस की भी समीक्षा करें कि एम्बुलेंन्स समय पर उपलब्ध हो। प्रोजेक्ट मैनेजर एनएचएआई को निर्देशित करते हुये कहा कि नेशनल हाईवे पर अनाधिकृत ढाबों के विरूद्ध कार्यवाही करें। टोल प्लाजा पर भी उपलब्ध एम्बुलेन्स एवं क्रेनों के संचालन की स्थिति की भी समीक्षा करें।
साथ ही राष्ट्रीयकृत व अराष्ट्रीयकृत मार्गों पर वाहनों के सुगम संचालन पर सम्बन्धित अधिकारियों व पुलिस विभाग से मिलकर व्यवस्था सुनिश्चित करायें। उन्होंने परिवहन विभाग से दुर्घटना में लिप्त चालकों के लाइसेंन्स निरस्तीकरण की कार्यवाही सुनिश्चित करने को कहा। साथ ही यह भी कहा कि व्यवसायिक वाहनों को फिटनेस सार्टिफिकेट निर्गत करने में गुणात्मक सुधार करने के निर्देश दिये। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी प्रेम रंजन सिंह, नगर मजिस्ट्रेट राकेश कुमार गुप्ता, उपजिलाधिकारी सदर दिनेश कुमार, सहायक सम्भागीय परिवहन अधिकारी, प्रवर्तन/ सचिव सड़क सुरक्षा समिति, उन्नाव, अधिषाशी अभियन्ता लोक निर्माण विभाग, प्राजेक्ट मैनेजर नेशनल हाईवे अर्थारिटी उन्नाव, प्रभारी यातायात उन्नाव, ट्रक/ सवारी वाहन एशोसिएशन के प्रतिनिधि व सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित रहे।
Back to top button
E-Paper