PNB घोटाला : ED ने 5 देशों में नीरव मोदी पर कसा शिकंजा, करोड़ो की संपत्ति जब्त

Nirav Modi

नई दिल्ली : पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) घोटाले के मुख्य आरोपी एवं भगोड़े आभूषण कारोबारी नीरव मोदी पर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने अपना शिकंजा और कस दिया है। ईडी ने सोमवार को भारत और चार अन्य देशों में नीरव और उसके परिवार की 637 करोड़ रुपए की संपत्तियां जब्त की हैं। इंटरपोल नीरव मोदी की बहन के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी कर चुका है।

ंमीडिया  की रिपोर्ट के मुताबिक

जांच एजेंसी ने न्यूयार्क में नीरव मोदी की दो अचल संपत्तियां जिनकी मूल्य 216 करोड़ रुपए है, उन्हें जब्त किया। ईडी ने यह कार्रवाई मनी लॉन्ड्रिंग अधिनियम की धारा पांच के तहत की है। इसके अलावा विदेशों में स्थित नीरव मोदी के पांच बैंक खातों जिनमें 278 करोड़ रुपए की रकम थी उन्हें जब्त किया गया है। जांच एजेंसी ने दक्षिण मुंबई स्थित नीरव के एक फ्लैट को भी जब्त किया है। इस फ्लैट की कीमत 19.50 करोड़ रुपए है। समाचार एजेंसी के मुताबिक हॉन्ग कांग से 22.69 करोड़ रुपए के हीरे जड़ित गहने भी लाए गए हैं।

बता दें कि ऐसे बेहद कम मामले हैं जिनमें भारतीय एजेंसियों ने किसी आपराधिक जांच के सिलसिले में विदेश में संपत्तियां जब्त की हैं। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि ईडी ने इसी मामले में एक अन्य आरोपी आदित्य नानावती के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस भी जारी किया है। उल्लेखनीय है कि नीरव मोदी और उसका चाचा मेहुल चोकसी इस मामले में मुख्य आरोपी हैं।

जांच एजेंसियां नीरव मोदी पर लगातार अपना शिकंजा कस रही हैं। इसके पहले इंटरपोल ने गत 10 सितंबर को नीरव मोदी की बहन पूर्वी के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया। पूर्वी बेल्जियम की नागरिक है। अंतरराष्ट्रीय गिरफ्तारी वारंट की तरह काम करने वाला इस नोटिस में कहा गया है कि ‘धनशोधन मामले’ के आरोपों में पूर्वी दीपक मोदी (44) वांछित है।

केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) के साथ इस मामले की जांच कर रहा प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने पीएनबी बैंक घोटाले में पूर्वी मोदी पर मुख्य भूमिका निभाने का आरोप लगाया है। ईडी का आरोप यह भी है कि इस घोटाले में पूर्वी कम से कम 133 मिलियन डॉलर (950 करोड़ रुपए से ज्यादा) की लाभार्थी है।

Back to top button
E-Paper