चिकित्सा कौशल की जागरूकता विषयक पर आयोजित हुआ सेमिनार

बहराइच। महाराजा सुहेलदेव स्वशासी राज्य चिकित्सा महाविद्यालय एवं महर्षि बालार्क चिकित्सालय बहराइच के संयुक्त तत्वाधान में आज महाविद्यालय के व्याख्यान कदा-1 में विधिक क्षेत्र में चिकित्सा कौशल की जागरूकता विषयक पर सेमिनार का आयोजन किया गया। जिसमें चिकित्सा महाविद्यालय एवं चिकित्सालय के वरिष्ठ विशेषज्ञों ने मेडिकोलिगल विषय पर चर्चा परिचर्या कर विधिक क्षेत्र में गहन जानकारी हासिल की।
विधिक क्षेत्र में चिकित्सा कौशल की जारूकता विषयक पर आयोजित परिचर्या को संबोधित करते हुए मुख्य वक्ता कुमार सम्भु (सीनियर स्टैंडिंग काऊसिल उ.प्र. सरकार ने कहा की न्याय पालिका क्षेत्र में मेडिकोलिगल का प्रभावी महत्व है । उन्होंने ने बताया कि डॉक्टर स्कोर पेशेट के द्वारा किसी भी प्रकार के रिस्क से सम्बन्धित उपचार के लिए उन्हें पेशेंट एवं उसके अटेंडेन्ट के द्वारा सहमति आवश्य ले लेना चाहिए। उन्होंने उच्च न्यायालय एवं सर्वाेच्य न्यायालय द्वारा समय-समय पर प्रतिपारित कानूनों की विसद जानकारी देते हुए चिकित्सकों का आवाहन किया कि वे सूक्ष्म चिकित्कीय रिर्पाेट को भी अपने विधिक कार्याे में शामिल करें ताकि वादकारी को प्रभावी व त्वरित न्याय मिल सके। डा. आर.के. चतुर्वेदी (विभागाध्यक्ष) ने बताया कि मेडिकोलीगल चिकित्सक के लिए महत्वपूर्ण विषय होता है, और न्याय के क्षेत्र में इसकी प्रसांगिकता व महत्ता दिनो-दिन बढ़ती जा रही है, सुयोग्य चिकित्सक के लिए आवश्यक है कि वह मेडिकोलीगल विषयक से सम्बन्धित सम्पूर्ण विषयों की जानकारी आर्जित करें।
कार्यक्रम का संचालन करते हुए संजीव श्रीवास्तव (संयोजक रूल ऑफ ला सोसाइटी) अवध क्षेत्र ने नशा प्रचलन को समाज के लिए घातक बताते हुए चिकित्सकों का आवाहन किया वे नशा उपभोग से होने वाले गंभीर बीमारियों की ओर समाज का ध्यान आकृष्ट करवायें ताकि युवा नशे से दूर रहे समाज व राष्ट्र के नवनिर्माण में सहभागी बन सकें आयोजित सेमिनार को संयुक्त निदेशक अभियोजन द्विजेन्द्र सिंह, वरिष्ठ अभियोजन अधिकारी ए.के. गिरी, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ. ओ.पी. पाण्डेय, वरिष्ट चिकित्सक डॉ. के.के. वर्मा डॉ. एम.एम. त्रिपाठी, वाइस प्रिसिंपल डॉ. लोकेश अग्रवाल, डॉ. राजदीप सिंह व डॉ. जय प्रकाश मौर्या ने भी संबोधित किया।
महाराजा सुहेलदेव स्वशासी राज्य चिकित्सा महाविद्यालय एवं महर्षि बालार्क चिकित्सालय बहराइच के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित परिचर्या का शुभारम्भ गणेशदेव के सामूहिक स्तुतिगान से व आभार ज्ञापन डॉ. फराज राहत के द्वारा किया गया। इस अवसर पर प्रमुख रूप से आलोक कुमार श्रीवास्तव, रहरूमा बेगम, केतन रूल ऑफ ला सोसाइटी के कार्यकारी अध्यक्ष अनिल मिश्रा एडवोकेट उपाध्यक्ष आलोक शुक्ल एडवोकेट व महामंत्री गौरव वर्मा एडवोकेट सहित मेडिकल कॉलेज के वरिष्ट चिकित्सक एवं विभागाध्यक्ष उपस्थित रहे। समापन अवसर पर आयोजकों द्वारा अतिथियों को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया।

Back to top button