यूपीएसएसएससी लीक मामला : पांच-पांच लाख रुपये में हुआ था पेपर हल कराने का सौदा

 वाराणसी, । प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में युवा कल्याण अधिकारी परीक्षा (यूपीएसएसएससी) का पेपर रविवार को लीक हुआ है। रोहनिया क्षेत्र के जोगापुर मोहन सराय स्थित एपेक्स इंटर कॉलेज में मोबाइल से नकल कर प्रश्न पत्र हल कर रहे 22 परीक्षार्थियों सहित एक संदिग्ध पेपर हल करने वाले युवक को क्षेत्रीय पुलिस टीम ने दबोच लिया। इसमें दो महिलाएं भी शामिल हैं। इसकी जानकारी होते ही पूरे प्रदेश में हड़कम्प मच गया।
उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग युवा कल्याण अधिकारी प्रारंभिक परीक्षा-2018 रविवार को पूरे प्रदेश के साथ शहर के विभिन्न केन्द्रों में सुबह 10 बजे से 12 बजे के बीच आयोजित की गई। परीक्षा शुरू होने के कुछ देर बाद ही क्राइम ब्रांच और पुलिस टीम को सूचना मिली कि इस परीक्षा के पेपर रोहनिया थाना क्षेत्र के जोगापुर गांव स्थित एक प्राइवेट स्कूल में मोबाइल वाट्सएप द्वारा हल कराया जा रहा है। सूचना पर पुलिस टीम ने छापेमारी कर एक संदिग्ध पेपर हल करने वाले समेत 22 परीक्षार्थियों को हिरासत में लिया। इस दौरान मची अफरा-तफरी का लाभ उठाकर कुछ युवा परीक्षा सेंटर से भागने में सफल रहे।
इस सम्बन्ध में एसपी क्राइम ज्ञानेंद्र प्रसाद ने बताया कि सूचना मिली थी कि यूपीएसएसएससी की युवा कल्याण अधिकारी परीक्षा के दौरान पेपर साल्व किये जा रहे हैं। इसी के मद्देनज़र छापेमारी कर 22 लोगों को हिरासत में लिया गया है और जांच चल रही है। सूत्रों ने बताया कि पेपर साल्वर गैंग के सरगना सुभाष व मनीष के द्वारा लिखित परीक्षा का पेपर हल कराने के लिए पांच-पांच लाख रुपये में सौदा किया गया। सुबह 05 बजे से ही यहां प्रश्न पत्र हल कराया जा रहा था। कुल 19 प्रश्न ही हल हो पाया था कि तभी पुलिस ने सभी को पकड़ लिया।
Back to top button
E-Paper