हैदराबाद ब्लास्ट केस: 2 दोषियों को सजा-ए-मौत, एक को उम्रकैद 

नई दिल्ली । 11 साल पहले रक्षाबंधन के दिन हैदराबाद को दहलाने वाले दो धमाकों में मारे गए लोगों को आखिर न्याय मिल गया। स्पेशल NIA कोर्ट ने दोहरे बम धमाके में दो दोषियों को मौत की सजा और एक अन्य आरोपी को उम्रकैद की सजा सुनाई है।

Image result for हैदराबाद ब्लास्ट केस: 2 दोषियों को सजा-ए-मौत, एक को उम्रकैद 

मौत की सजा पाने वाले दो आरोपियों के नाम अनीक सईद और इस्माइल चौधरी है, जबकि तीसरे आरोपी तारिक अंजुम को उम्रकैद की सजा मिली है। वहीं, आरोपी अनीक के वकीलों ने इस फैसले के खिलाफ ऊपरी अदालत में अपील का एलान किया है। वकील गंदम गुरुमूर्ति के अनुसार यह एक कमजोर फैसला है।

Image result for हैदराबाद ब्लास्ट केस: 2 दोषियों को सजा-ए-मौत, एक को उम्रकैद 

गौरतलब है कि आज से 11 साल पहले 25 अगस्त 2007 के दिन हैदराबाद डबल बम धमाकों से हिल गया था। गोकुल चाट और लुम्बिनी पार्क में हुए इन बम धमाकों में 42 लोगों की मौत हो गयी थी और 50 गंभीर रूप से घायल हो गए थे। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक वह बड़ा भी भयानक मंजर था।

हर तरफ लाशें और चीख पुकार मची हुई थी। उस दौर में सोशल मीडिया नहीं होता था, लेकिन आज इस फैसले के आने के बाद सोशल मीडिया पर लोगों ने अपने तब के दर्दनाक अनुभव के साझा किए।

मामले की जांच तेलंगाना की काउंटर इंटेलिजेंस पुलिस ने की थी। हालांकि अभी भी कुछ आरोपी कानून की गिरफ्त से बाहर है। लेकिन इस फैसले ने हमले के शोकाकुल लोगों के जख्म पर जरूर कुछ मरहम लगाया है।

 

Back to top button
E-Paper