लखनऊ में हाेटल खाेलेंगे सपा अध्यक्ष, जानिए कौन हाेंगी बिजनेस पार्टनर…

लखनऊ : यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के लखनऊ में होटल खोलने के प्रस्ताव की सरकारी चिट्ठी लीक हो गई है. इस दस्तावेज में होटल खोलने के लिए अखिलेश यादव और उनकी पत्नी डिंपल यादव ने एलडीए से इजाजत मांगी है. साथ ही इस होटल का नक्शे को भी एलडीए को सौंपा है.

अखिलेश ने ‘हीबीकस हेरिटेज’ नाम से होटल खोलने का प्रस्ताव लखनऊ डेवलपमेंट अथॉरिटी को दिया है. ये बात तब सामने आई जब लखनऊ विकास प्राधिकरण (एलडीए) ने उत्तर प्रदेश के कई विभागों से इस होटल के लिए अनापत्ति प्रमाण पत्र यानि एनओसी की मांग की.

हालांकि, पार्टी होटल खोलने की बात से इनकार कर रही है. अखिलेश यादव के करीबी और सपा से एमएलसी आनंद भदौरिया ने ट्वीट कर लिखा है विक्रमादित्य मार्ग का 1-ए प्लॉट इंडस्ट्रियल लैंड है और वहां कोई होटल नहीं बल्कि विशिष्ट अतिथि गृह खोलने की योजना है.

आनंद भदौरिया ने ट्वीट से साफ है किया 
आनंद भदौरिया के ट्वीट से साफ है कि होटल खोलने का प्रस्ताव अखिलेश यादव की तरफ से ही दिया गया है लेकिन इस होटल को खोलने के पीछे की मंशा क्या कुछ और है.

दरअसल, अखिलेश यादव करीबियों की मानें तो नाम भले ही होटल का दिया गया हो, लेकिन वह अपने रहने के लिए यहां घर बनवा रहे हैं.  इंडस्ट्रियल लैंड होने के चलते घर बनाने में समस्या है. यहां होटल या गेस्ट हाउस का निर्माण हो सकता है. माना जा रहा है कि इसी के चलते अखिलेश यादव ने अपने पुराने सरकारी घर 4 विक्रमादित्य मार्ग के पास अपनी जमीन पर ही घर बनाने के लिए यह रास्ता अपनाया है.

बहरहाल होटल का प्रस्ताव देकर अखिलेश यादव ने योगी सरकार को हमले का एक और मौका दे दिया है. अखिलेश अभी तक अपने पुराने सरकारी मकान में हुई तोड़फोड़ के आरोपों से उबर भी नहीं पाए हैं कि अब होटल का प्रस्ताव देकर अपने लिए एक और मुसीबत मोल ले ली है.

Back to top button
E-Paper