गोलियों से छलनी होने पर भी दुश्मनों का किया खात्मा, जांबाज LoC पर शहीद

नई दिल्‍ली : जम्‍मू एवं कश्‍मीर के तंगधार सेक्‍टर में सोमवार को आतंकियों के साथ हुई मुठभेड़ में लांस नायक संदीप सिंह शहीद हो गए। लेकिन अपनी अंतिम सांस तक वह आतंकियों से लोहा लेते रहे। गोलियों से छलनी होने के बावजूद देश के इस जांबाज सपूत ने 2 पाकिस्‍तानी घुसपैठ‍ियों को मार गिराया। वह दो साल पहले भारतीय सेना की उस टीम का भी हिस्‍सा रहे, जिन्‍होंने नियंत्रण रेखा (LoC) पार कर पाकिस्‍तान के कब्‍जे वाले कश्‍मीर में आतंकियों के कई लॉन्‍च पैड्स नष्‍ट कर दिए थे।

कुपवाड़ा जिले के तंगधार सेक्‍टर में मुठभेड़ की शुरुआत शनिवार को हुई थी,

जब सेना को नियंत्रण रेखा पर घुसपैठ की सूचना मिली थी। इसके बाद 4 पैरा कमांडो और 20 जैट के जवानों ने इसके खिलाफ अभियान शुरू किया। लांस नायक संदीप सिंह की अगुवाई में 4 पैरा कमांडो ने गगधरी नार इलाके में सर्च ऑपरेशन चलाया। इस दौरान उन्‍होंने 2 आतंकियों को मार गिराया। उन्‍हें खुद भी गोली लगी थी, पर इसकी परवाह न करते हुए वह आखिरी सांस तक लड़ते रहे और भारतीय क्षेत्र में घुसपैठ की कोशिश कर रहे 2 आतंकियों को मार गिराया।

पंजाब में गुरदासपुर जिले के रहने वाले लांस नायक संदीप सिंह ने इस दौरान अपनी सुरक्षा की परवाह नहीं करते हुए आतंकियों को नजदीक से गोली मारी। इस दौरान उन्‍हें सिर में गोली लगी। उन्‍हें अस्पताल ले जाया जा रहा था, जब उन्‍होंने दम तोड़ दिया। इस मुठभेड़ में हालांकि सैन्‍यकर्मियों को बड़ी कामयाबी मिली, जब उन्‍होंने 5 आतंकियों को मार गिराया। इनमें से 3 सोमवार को मारे गए, जबकि 2 अन्‍य को सुरक्षा बलों ने रविवार को मार गिराया था।

तंगधार में आतंकियों के साथ मुठभेड़ में शहीद हुए लांस नायक संदीप सिंह को मंगलवार को अंतिम विदाई दी गई। वह उस टीम का भी हिस्‍सा रहे थे, जब 29 सितंबर, 2016 को भारतीय सेना ने नियंत्रण रेखा के पार पाकिस्‍तान के कब्‍जे वाले कश्‍मीर में बड़ी कार्रवाई करते हुए आतंकियों के कई लॉन्‍च पैड्स नष्‍ट कर दिए थे।

Back to top button
E-Paper